बच्चों में पढ़ने की आदत डालने के ये तरीके अपनाएं

read_books_25_10_2015लगभग सभी छोटे बच्‍चे हमेशा ही पढ़ाई करने से कतराते हैं। हम यहां कुछ तरीके बता रहे हैं जिन्‍हें अपनाकर आप बच्‍चों में पढ़ने की आदत डाल सकते हैं।

READ BOOKS WITH RICH ILLUSTRATIONS

रिच कंटेंट वाली किताबें शुरुआत से ही बच्चों को पढ़कर सुनाएं। साधारण फोटो और कम कंटेंट मदद नहीं करते। रिच कॉन्टेंट को कॉन्वर्सेशन स्टार्टर समझा जाता है जबकि कम कंटेंट वीक माना जाता है। इस तरह से बेहतर चाइल्ड-पेरेंट रिलेशन डेवेलप होता है।

ASK QUESTIONS

16 से 24 महीने तक के बच्चे हर दिन अपनी वोकैब में नए शब्द जोड़ते चले जाते हैं। डॉग और ट्री सबसे आसान नाम माने जाते हैं। जैसे ही आपको डॉग का पिक्चर दिखाई दे तो तुरंत अपने टॉडलर से पूछें क्या तुम डॉग देख सकते हो? कौनसे कलर का डॉग है? डॉग क्या कर रहा है? इस तरह से बच्चे जल्दी सेंटेंस बनाना सीख जाएंगे।

CUDDLE YOUR CHILD WHILE READING

जब आप खुद किताब पढ़ें तो अपने बच्चे को भी गोद में बिठाएं। इस तरह आपका बच्चा भी रीडिंग से खुद को जोड़ेगा। आगे जाकर उसका रीडिंग को लेकर कॉन्फिडेंस भी बढ़ेगा और वह अपने दोस्तों के बीच बेहतर रीडर रहेगा। रीडिंग भी एक स्किल है जिसे जितना यूज करेंगे उतना परफेक्ट होती जाएगी।

IMITATE VOICES AND MAKE SILLY SOUNDS

व्हैम !! बैंग ! बूम !!! जैसे साउंड्स पढ़ते हुए निकालने जरूरी हैं। हो सकता है आपको एम्बेरेसिंग लगे लेकिन इससे फर्क पड़ता है। तरह तरह के साउंड लिट्रेसी स्किल का काम करते हैं। इसी के जरिए आपका बच्चा आगे जाकर बड़े शब्द जोड़ना सीखेगा। ये साउंड यूनिट्स पहचानकर और सुनकर आपका बेबी पूरे वर्ड्स बनाना जल्दी सीख जाएगा।

POINT OUT COLORS ,SHAPES, COUNTING

काउंट करना सीखना भी रीडिंग की तरह ही विकास का एक बहुत जरूरी हिस्सा है। एक से दस तक की काउंटिंग करना एक बात है और शेप्स, कलर्स और नंबर्स को देखते ही पहचानना दूसरी। रीडिंग करते हुए बच्चे से पूछते रहें -बास्केट में कितने ऐपल हैं? इस तरह से बच्चा मैथ से जुड़ी चीजें सीखता है. आगे जाकर वह रियल मैथ प्रॉब्लम्स को आसानी से हल कर पाएगा।

FOLLOW YOUR CHILDS LEAD

अगर आप बच्चे को एक जगह बैठकर रीड करने को कहेंगे तो वो रीडिंग को सजा की तरह समझेगा। बेहतर होगा की अपने बच्चे के अटेंशन स्पेन के हिसाब से चलें। जब वो इंन्ट्रेस्ट लूज करेगा तो कमरे में ही थोड़ा घूम फिरकर दोबारा किताब के पास आएगा। जब आपका बच्चा बोर होने लगे तो भी आप उम्मीद नहीं छोड़ें। खुद पढ़ते रहें और उसे स्टोरी पर कमेंट्स करके रिझाते रहें। क्यूरिओसिटी उसे बार बार बुक की तरफ खींचेगी।

 
 
 

– See more at: http://naidunia.jagran.com/magazine/lifestyle-these-methods-should-be-follow-for-developing-reading-habit-in-children-534551#sthash.yLZp8e5f.dpuf

Back to top button