अभी-अभी: बगदाद में हुआ बड़ा बम विस्फोट, हुई कई लोगों की मौत, पुरे देश में मचा हडकंप…

इराक की राजधानी बगदाद के मध्य हिस्से में आईसक्रीम की एक दुकान के बाहर हुए कार बम धमाके में 10 लोगों की मौत हो गई. साथ ही अन्य 22 लोग घायल हो गए. 

ये भी पढ़े: यहां किराए पर मिलते है मनपसंद Boyfriend, बस कीजिए ऐसा..
अभी-अभी: बगदाद में हुआ बड़ा बम विस्फोट, हुई कई लोगों की मौत, पुरे देश में मचा हडकंप…ये भी पढ़े: पाकिस्तान का कूलभूषण मामले में नया दांव, कहा- जाधव ने दी आतंकी हमलों से जुड़ी खुफिया जानकारी

इस्लामिक स्टेट आतंकी समूह ने हमले की जिम्मेदारी ली है. इराकी अधिकारियों का कहना है कि पार्किंग में खड़ी कार में विस्फोट हुआ. अधिकारियों ने कल नाम जाहिर न करने की शर्त पर यह जानकारी दी.

सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई वीडियो पर विस्फोट के बाद सड़कों पर मची अफरा तफरी साफ नजर आ रही है. कई घायल भी सड़कों पर नजर आऐ. बता दें कि यह हमला रमजान के पाक महीने में किया गया था. जब मुस्लिम रोजा रखते हैं. इस दौरान पहले भी इराक में अक्सर कई हिंसक गतिविधियां होती रही हैं.

इससे पहले भी हुआ था हमला

इराक की राजधानी बगदाद के सबसे भीड़ वाले कारोबारी इलाके में शनिवार देर रात दो कारों में बम धमाके होने से 130 लोगों की मौत हो गई थी. इसके साथ ही 45 लोग बुरी तरह घायल हो गए. न्यूज एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक पहला हमला देर रात करीब एक बजे हुआ. एक आत्मघाती हमलावर ने दक्षिणी मध्य बगदाद के कर्राडा-दाखिल इलाके में एक रास्ते पर कार को बम से उड़ा दिया था. दूसरा धमाका राजधानी में देर रात हुआ जब अल शाब शहर के मशहूर शललाल बाजार में विस्फोटक सामग्री से लदी कार में आग लग गई. रमजान का महीना होने से वहां की चहल-पहल की वजह से बाद में मरने वालों की संख्या और बढ़ गई.

आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली थी जिम्मेदारी

दोहरे धमाके में आसपास की कई इमारतों और दुकानों को काफी नुकसान पहुंचा था. आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने इस धमाके की जिम्मेदारी ली थी. जून 2014 में इराक के उत्तरी और पश्चिमी इलाकों में इस्लामिक स्टेट की पकड़ बनाने के बाद से हिंसा का एक बवंडर फैल गया थी. इराकी सेना ने पिछले महीने आईएस को उसके गढ़ फलुजा शहर से बाहर खदेड़ दिया था.

You may also like

सुप्रीम कोर्ट: मोबाइल-बैंक खातों से आधार जोड़ना गलत, सरकार ने नहीं की तैयारी

आधार कार्ड की अनिवार्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट के पांच