Home > राज्य > महाराष्ट्र > बंद हो चुके 500 के नोट से जलाया बल्ब, किसान के बेटे ने किया ये कमाल

बंद हो चुके 500 के नोट से जलाया बल्ब, किसान के बेटे ने किया ये कमाल

उड़ीसा. नोटबंदी के बाद चलन से बाहर हो चुके 500 के नोट से उड़ीसा के नुआपाड़ा जिले के 17 साल के स्टूडेंट लचमन दुंडी ने इलेक्ट्रिसिटी बनाने की टेक्नीक डेवलप कर ली है। जिसके बाद PMO ने राज्य को इस प्रोजेक्ट पर जल्द रिपोर्ट पेश करने को कहा है। आपको बता दें कि 8 नवंबर को प्रधानमंत्री ने 500 और 1000 के नोट बंद करने का ऐलान कर दिया था।
बंद हो चुके 500 के नोट से जलाया बल्ब, किसान के बेटे ने किया ये कमाल
– इस टेक्नीक की पूरे देश भर में चर्चा हो रही है।
– PMO ने भी राज्य के साइंस एंड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट को इस विषय में रिपोर्ट पेश करने को कहा है।

ये भी पढ़े: तेजस ट्रेन की रफ़्तार ने भारत में रचा इतिहास, पहली बार करवाया विमान जैसा एहसास

एक नोट से पांच वोल्ट तक बिजली प्रोड्यूस
– लचमन दुंडी का कहना है कि वो बंद हो चुके पांच सौ के एक नोट से 5 वोल्ट तक इलेक्ट्रिसिटी प्रोड्यूस कर सकते हैं।
– नोट पर मौजूद सिलिकॉन कोटिंग से बिजली बनाना संभव है। इसके लिए नोट को फाड़ कर धूप में रखना होता है।
– सिलिकॉन प्लेट को एक ट्रांसफार्मर से कनेक्ट कर इलेक्ट्रिसिटी बनाई जा सकती है।

जब कॉलेज ने नहीं दिया ध्यान….
– लचमन दुंडी ने बताया कि उन्होंने सबसे पहले इस टेक्नीक का प्रेजेंटेशन कॉलेज में दिया था। जब इस पर कॉलेज प्रशासन ने ध्यान नहीं दिया तो उनहोंने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को लेटर लिखा।

– लेटर में लचमन ने 500 के नोट से 5 वोल्ट तक इलेक्ट्रिसिटी प्रोड्यूस करने का दावा किया।
– जिसके बाद 12 अप्रैल को PMO ऑफिस ने राज्य सरकार को इस प्रोजेक्ट पर रिपोर्ट पेश करने को कहा है।
 
पैसे कमाने के लिए बल्ब बेचते है
– लचमन दुंडी के पिता एक किसान हैं
– खैरियर कॉलेज के छात्र लचमन पढ़ाई के साथ- साथ घर खर्चे के लिए बल्ब बेच कर पैसे कमाते है।
– लचमन दुंडी का कहना है कि अगर PMO उनके इस प्रोजेक्ट की अपरूव करता है तो उनके लिए यह प्राउड मूवमेंट होगा। इससे बढ़कर उनके लिए खुशी की बात कोई हो नहीं सकती।
Loading...

Check Also

दिल्ली के मेदांता अस्पताल में भर्ती, नेता विरोधी दल रामगोविन्द चौधरी के स्वास्थ्य लाभ के लिए दुआएं जारी

जनपद मऊ l दिल्ली के मेदांता अस्पताल में भर्ती नेता विरोधी दल रामगोविन्द चौधरी के …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com