फ्रांस के रिसर्चर्स ने ढूंढा इस वायरस का तोड़

फ्रांस के रिसर्चर्स ने शुक्रवार को दावा किया कि उन्होंने वानाक्राय वायरस से प्रभावित कंप्यूटर की फाइल्स को बचाने का तरीका तलाश लिया है। इसके लिए उन्होंने वॉनाकीवी नाम का टूल बनाया है। हालांकि, रिसर्चर्स ने यह भी बताया है कि उनका तरीका कुछ खास परिस्थितियों में ही काम करेगा।फ्रांस के रिसर्चर्स ने ढूंढा इस

दुनियाभर में जाने माने हैकर मैथ्यू सुइच ने कहा कि यह परफेक्ट सॉल्यूशन नहीं है। मगर, फिलहाल यही एक तरीका है, जिसके जरिए लॉक की गई फाइल्स को अनलॉक किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि साइबर अटैक के शिकार हुए जिस कंप्यूटर को रीबूट नहीं किया गया है, यह उसी पर काम करेगा।

ये भी पढ़े: कुलभूषण जाधव की स्थिति पर संशय अभी भी बरकरार, पाक ने अब तक नहीं दी कोई जानकारी

इसके अलावा वॉनाक्राइ ने जिन कंप्यूटरों फाइलों को पर्मानेंट बंद नहीं किया है, उन पर भी यह टूल काम करेगा। गौरतलब है कि इस वायरस से अब तक 150 देशों के तीन लाख से अधिक कंप्यूटर प्रभावित हो गए हैं। वानाक्राय सिस्टम में अटैक करने के बाद यूजर को धमकी देता है कि यदि एक हफ्ते के अंदर उसे 300 से 600 डॉलर फिरौती नहीं दी गई, तो वह सिस्टम को हमेशा के लिए लॉक कर देगा।

दुनियाभर के सिक्योरिटी रिसर्चर्स की टीम ने मिलकर साइबर अटैक की शिकार हुई फाइल्स को अनलॉक करने का तरीका ढूंढ लिया। रिसर्चर्स को पता था कि उनके पास टूल को बनाने के लिए ज्यादा समय नहीं है क्योंकि वक्त बीतने के साथ फाइलों को बचाना मुश्किल हो जाता। सुइच ने टि्वटर पर भेजे डायरेक्ट मैसेज में कहा कि यह तरीका  एक्सपी से लेकर विंडोज7 तक के किसी भी सिस्टम में काम करेगा।

You may also like

जॉनसन बेबी पाउडर से हुआ कैंसर, कंपनी पर लगा अरबों डॉलर का जुर्माना

नई दिल्ली: ज्यादातर लोग अपनी जरूरतों को लेकर लापरवाह