फॉर्च्यून 500 में 7 भारतीय कंपनियों ने बनाया स्थान, IOC सबसे आगे

- in कारोबार

विश्व की सबसे बड़ी कंपनियों की सूची ​फॉर्च्यून 500 में 7 भारतीय कम्पनियां जगह बनाने में कामयाब हुई हैं। सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (आई.ओ.सी.) इस रैंकिंग में कारोबार के हिसाब से भारतीय कंपनियों में सबसे ऊपर बनी हुई है।फॉर्च्यून 500 में 7 भारतीय कंपनियों ने बनाया स्थान, IOC सबसे आगेफॉर्च्यून 500 में 7 भारतीय कंपनियों ने बनाया स्थान, IOC सबसे आगे

वॉलमार्ट टॉप पर
​फॉर्च्यून ने कहा कि वॉलमार्ट वैश्विक स्तर पर शीर्ष पर बनी हुई है। आई.ओ.सी. का राजस्व पिछले एक साल में 23 प्रतिशत बढ़कर 65.9 अरब डॉलर पर पहुंच गया है। इसके दम पर कम्पनी वर्ष 2017 के 168वें स्थान से छलांग लगाकर इस साल 137वें स्थान पर पहुंच गई है। रिलायंस इंडस्ट्रीज सबसे बड़ी निजी भारतीय कम्पनी बनी हुई है। इसने 62.3 अरब डॉलर राजस्व के साथ 148वां स्थान हासिल किया है। पिछले साल कम्पनी 203वें स्थान पर थी। ओ.एन.जी.सी. ने 47.5 अरब डॉलर के साथ सूची में पुन: वापसी की है और 197वां स्थान सुरक्षित किया है। भारतीय स्टेट बैंक 47.5 अरब डॉलर राजस्व के साथ एक पायदान उछलकर 216वें स्थान पर है।

रिलायंस देश सबसे अधिक मुनाफे वाली कंपनी
इसी तरह टाटा मोटर्स 232वें और भारत पैट्रोलियम कॉर्प 314वें स्थान पर रही हैं। राजेश एक्सपोटर्स 405वां स्थान हासिल कर सूची की 7वीं भारतीय कंपनी रही है। रिलायंस देश में सबसे अधिक मुनाफे वाली कम्पनी रही है और विश्व में मुनाफे के आधार पर 99वें स्थान पर है। शीर्ष 10 कंपनियों में चीन की 3 कंपनियों ने स्थान बनाया। स्टेट ग्रिड दूसरे, सिनोपेक ग्रुप तीसरे और चाइना नैशनल पैट्रोलियम कॉर्पोरेशन चौथे स्थान पर रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

5 राज्यों के वित्त मंत्रियों की बैठक में पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर होगा ये बड़ा ऐलान

 पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच आम आदमी को