दिन दहाड़े फिल्मी स्टाइल में ट्रैफिक रोककर लूटे 1.14 करोड़ रुपये, देखिए कैसे

- in पंजाब, राज्य

9 मिनट तक लुटेरों ने फिल्मी स्टाइल में ट्रैफिक रोके रखा और कैश को बोरियों में डालकर फरार हो गए। देखिए कैसे?
दिन दहाड़े फिल्मी स्टाइल में ट्रैफिक रोककर लूटे 1.14 करोड़ रुपये, देखिए कैसे

घटना पंजाब के जालंधर की है, जहां पठानकोट नेशनल हाईवे पर स्थित भोगपुर से आदमपुर जाने वाले मार्ग पर गांव मानकराय में सात हथियारबंद लुटेरों ने निजी कंपनी की कैश वैन पर फायरिंग कर 1.14 करोड़ रुपये लूट लिए। नौ मिनट तक लुटेरों ने फिल्मी स्टाइल में मार्ग पर ट्रैफिक रोके रखा और कैश को बोरियों में डालकर फरार हो गए।

 दिन दहाड़े फिल्मी स्टाइल में ट्रैफिक रोककर लूटे 1.14 करोड़ रुपये, देखिए कैसेजानकारी के मुताबिक रेडिएंट सिक्योरिटी कंपनी की तरफ से एचडीएफसी बैंक का कैश एटीएम में लोड करने के लिए ले जाया जाता है। शुक्रवार को भी कंपनी की ओर से माडल टाऊन ब्रांच से एक कैश वैन में दो करोड़ रुपये से अधिक की राशि रखी गई थी। रास्ते में कई स्थानों में एटीएम में कैश लोड करने के बाद भोगपुर में कैश वैन में एक करोड़ 14 लाख की राशि बची थी।

 दिन दहाड़े फिल्मी स्टाइल में ट्रैफिक रोककर लूटे 1.14 करोड़ रुपये, देखिए कैसेदोपहर 2 बजकर 55 मिनट पर लुटेरों ने घेरा
चालक चरणजीत सिंह के मुताबिक भोगपुर से आदमपुर के लिंक मार्ग पर दोपहर 2 बजकर 55 मिनट पर अचानक एक इंडिगो कार सवार लुटेरों ने एक गोली चलाई, जो शीशे में जा लगी। चालक ने वैन धीमी की तो कार उनके आगे आकर लग गई। इस बीच तीन पल्सर मोटरसाइकिलों पर सवार छह लोग भी आ गए और सभी ने मुंह पर कपड़ा बांधा हुआ था। लुटेरों ने रोड पर ट्रैफिक रोक दिया और गनर सुरिंदरजीत सिंह को गन प्वाइंट पर लेकर उसकी गन छीन ली।

इसमें से गोलियां निकालकर गन को वापस गाड़ी की सीट पर रख दिया। लुटेरों ने पांच सदस्यों को एक तरफ ले जाकर हाथ खड़े करवा दिए और दो एक बोरी लेकर कैश वैन में चढ़ गए। उन्होंने ट्रंकों के तालों को तोड़ा और कैश को बोरी में भर लिया। इस बीच नौ मिनट तक रोड पर पूरी तरह ट्रैफिक जाम रहा। लुटेरों ने नोटों से भरी बोरी को बाइक पर रखा और 3 बजकर 4 मिनट पर  सभी भोगपुर की तरफ फरार हो गए। 

इस बीच फोन के जरिये कंपनी मुलाजिमों ने पुलिस को सूचना दी कि मोटरसाइकिल और इंडिगो गाड़ी जिसका नंबर उतरा हुआ है, उसमें सवार लुटेरे कैश लूटकर फरार हो गए हैं। वैन में गनर सुरिंदरजीत सिंह के अलावा चालक चरणजीत सिंह व कंपनी के तीन मुलाजिम राजीव, गुरप्रीत सिंह व रविंदरपाल सिंह भी सवार थे। 

इस तरह घेरा कार सवार
लूट की सूचना मिलने पर सभी संपर्क मार्गों पर नाकेबंदी कर दी गई। डीएसपी करतारपुर सर्बजीत राय अपनी टीम के साथ करतारपुर के गांवों में किशनगढ़ मार्ग पर नाकेबंदी कर चेकिंग कर रहे थे कि लूट में इस्तेमाल इंडिगो कार तेजी से उनके पास से निकली। पुलिस ने उसका पीछा किया और गांव चीमा में नजदीक आने पर फायरिंग की गई।

इस दौरान लुटेरे रंजीत सिंह पुत्र सुखदेव सिंह निवासी करतारपुर, लखनके को तीन गोलियां लगीं। पुलिस ने उसे तत्काल पास के अस्पताल में दाखिल करवाया। हालांकि पुलिस को गाड़ी में कैश नहीं मिला। भोगपुर पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। 

होश आने के बाद ही हो सकता है खुलासा
डीआईजी जसकरण सिंह का कहना है कि लुटेरा रंजीत सिंह जिस इंडिगो कार में सवार था। उसी का इस्तेमाल लूट में किया गया था। कार को कंपनी के मुलाजिमों ने पहचान लिया है। अभी रंजीत की हालत गंभीर है। उसके होश में आने के बाद ही मामले का खुलासा हो पाएगा कि वारदात में कौन कौन शामिल था।

 

 
loading...
=>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 − four =

You may also like

सलमान खान से जुड़े हिरण शिकार मामले में बहस जारी

जयपुर। फिल्म अभिनेता सलमान खान से जुड़े 19 वर्ष