प्लास्टिक के बजाए कपड़े के थैले की आदत डालें -सुरेश खन्ना

- in उत्तरप्रदेश, लखनऊ

सीएमएस छात्रों ने की ‘पॉलीथीन को ‘ना’ कहें’ की जोरदार अपील

लखनऊ : सिटी मोन्टेसरी स्कूल, जापलिंग रोड कैम्पस के छात्रों ने आज नवाब वाजिद अली शाह प्राणी उद्यान (चिड़ियाघर) में ‘नुक्कड़ नाटक’ का मंचन कर प्रदेश सरकार द्वारा पॉलीथीन पर प्रतिबन्ध लगाने के फैसले को बड़े ही जोरदार तरीके से जनमानस तक पहुँचाया और पॉलीथीन का उपयोग न करने की जोरदार अपील की। इस अवसर पर छात्रों के उत्साहवर्धन हेतु प्रदेश के संसदीय कार्य एवं नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना, डा. इन्द्रमणि त्रिपाठी, नगर आयुक्त, लखनऊ, श्री आर. के. सिंह, निदेशक, प्राणि उद्यान, डा. जगदीश गाँधी, प्रख्यात शिक्षाविद् एवं संस्थापक, सी.एम.एस., प्रो. गीता गाँधी किंगडन, प्रेसीडेन्ट, सी.एम.एस., आदि उपस्थित थे, जिन्होंने प्रदूषण मुक्त समाज हेतु सी.एम.एस. छात्रों के इस प्रयास की भरपूर प्रशंसा की और छात्रों का उत्साहवर्धन किया।

इस अवसर पर प्रदेश के संसदीय कार्य एवं नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने अपने उद्बोधन में कहा कि सी.एम.एस. छात्रों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सामाजिक जागरूकता की मिसाल प्रस्तुत की है। उन्होंने जनमानस का आह्वान किया कि प्लास्टिक के थैले के बजाए कपड़े के थैले की आदत डालें। जरा सी सावधानी से बड़ी दुर्घटनाएं टाली जा सकती हैं। प्रदेश सरकार पॉलीथीन पर लगाया गया प्रतिबन्ध समाज के हित में है। इससे न सिफ पर्यावरण का सवंर्धन होगा अपितु विभिन्न प्रकार के प्रदूषण पर रोक लगेगी।

इससे पहले, सी.एम.एस. जॉपलिंग रोड कैम्पस के छात्रों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से पॉलीथीन के बहिष्कार का अलख जगाया। छात्रों ने स्लोगन लिखे बैनर व पोस्टर के साथ गीत गाते हुए पॉलीथीन के दुष्परिणामों से जनमानस को अवगत कराया एवं प्रदूषण मुक्त वातावरण का आह्वान किया। प्लास्टिक, पॉलीथीन तथा थर्मोकोल से निर्मित पॉलीबग, कप, प्लेट, ग्लास आदि से गंदगी व प्रदूषण तो फैलता ही है, इससे पर्यावरण को भी काफी हानि होती है। नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत करने वाले सी.एम.एस. जॉपलिंग रोड कैम्पस के छात्रों में साराह हबीब, अर्णव शर्मा, शर्मिष्ठा शिवहरे, हसनैन खान, पुष्कर अवस्थी, खुशी कौशल, वंश अवस्थी, अंजनेय सिंह, समृद्ध एवं अस्मित शामिल हैं।

इस अवसर पर डा. जगदीश गाँधी ने  कहा कि पॉलीथीन पर प्रतिबन्ध लगाकर प्रदेश सरकार ने प्रदूषण के मद्देनजर नेक कदम उठाया है तो उसका स्वागत किया जाना चाहिए और हम सभी को इसमें सहयोग करना चाहिए। डा. गाँधी ने कहा कि सी.एम.एस. छात्रों ने प्लास्टिक कचरे से निपटने हेतु जनमानस के सहयोग की मुहिम छेड़ी है। छात्रों का यह प्रयास जरूर रंग लायेगा और समाज में रचनात्मक परिवर्तन आयेगा। डा. गाँधी ने बताया कि सी.एम.एस. के सभी कैम्पसों में उत्तर प्रदेश सरकार के इस फैसले का पालन करने के लिए बच्चों एवं शिक्षकों को प्रतिबंधित पॉलीथीन का उपयोग न करने का संकल्प दिलाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लोअर पीसीएस-2015 के चयनितों को चार माह बाद भी नियुक्ति का इंतजार – राघवेन्द्र प्रताप सिंह

लखनऊ। एक ओर जहाँ सूबे की योगी आदित्यनाथ