प्लास्टिक की दुकान में भीषण आग लगने से आस-पास की दुकानों में फैली, ढाई घंटे तक चला आग का तांडव

बीकानेर।बीकानेर के गंगाशहर के मेन बाजार में भीषण आग लग गई। आग की सूचना पाते ही पुलिस वहां पहुंच गई और वहां रखा ज्वलनशील सामान बाहर निकलवाया। एक दुकान में रखे सिलेंडर भी आनन-फानन में वहां से हटवाए गए। इससे बड़ा हादसा होने से बच गया। आग से करीब 20 लाख का नुकसान हुआ। करीब 10 दमकलों ने ढाई घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।
प्लास्टिक की दुकान में भीषण आग लगने से आस-पास की दुकानों में फैली, ढाई घंटे तक चला आग का तांडव
जानिए क्यों लगी आग …..
– गंगाशहर मेन बाजार में बीती रात को आग लग गई। आग एक दुकान में लगी जो अन्य दुकानों तक फैल गई।
– पुलिस व दमकल के अनुसार आग रात दो बजे सुशील कुमार उत्तमचन्द चौरड़िया की दुकान में लगी। दुकान में प्लास्टिक का सामान रखा था जो आग लगते ही जलने लगा।
– आग लगते ही आस-पास के लोगों ने पुलिस व दमकल को सूचना दी। पुलिस प्रशासन थोड़ी ही देर में मौके पर पहुंच गया, लेकिन दमकल ने आने में एक घंटे से ज्यादा का समय लगा दिया। इससे आग बेकाबू होकर आस-पास की दुकानों में फैल गई। 

ये भी पढ़े: कलिंजरा गांव में पेड़ से लटका मिला अज्ञात व्यक्ति का शव, इलाके में फैली सनसनी

दमकल के आने तक आग ले चुकी थी भीषण रूप
– जब तक अग्निशमन की गाडिय़ां वहां पहुंचीं तब तक आग भीषण रूप ले चुकी थी। आग इतनी तेजी से फैली कि आस-पास की चार दुकानों को अपने आगोश में ले लिया। दुकान में प्लास्टिक का सामान ज्यादा होने की वजह से आग ने विकराल रूप धारण कर लिया।
– गंगाशहर पुलिस ने आस-पास की दुकानों को खाली करवाया व अत्यंत ज्वलनशील सामान को हटवाया। आस-पड़ोस की दुकानों से करीब 30 गैस सिलेंडर बाहर रखवाए गए। आग का प्रचंड रूप देख कर लोग घबरा गए।
 
शॉर्ट सर्किट से लगी आग
– पुलिस के अनुसार शुरूआती जांच में लगता है कि आग शॉर्ट सर्किट से लगी। आग तेजी से फैली और पास की चार दुकानों में फैल गई जिससे वहां रखा सारा सामान खाक हो गया।
 
20 लाख का नुकसान
– आग पहले प्लास्टिक की दुकान में लगी। आग से प्लास्टिक धू धू कर जलने लगा और आग की लपटें उठने लगीं। दमकल के देर से पहुुंचने के कारण आग पास की चार दुकानों में फैल गई जिनमें बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन का सामान रखा था।
– दुकान मालिकों के अनुसार अाग से करीब 20 लाख का नुकसान हुआ है।
Loading...
loading...
error: Copy is not permitted !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com