नई दिल्ली. निदाहस ट्रॉफी में टीम इंडिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही. श्रीलंका के खिलाफ पहले T20 में भारत को 5 विकेट से हार का सामना करना पड़ा. इस हार की वैसे तो कई वजहें हो सकती हैं लेकिन जो खुलासा India.com की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ है उन वजहों को जानकर आप हैरान रह जाएंगे. हमारी पड़ताल के मुताबिक भारतीय टीम श्रीलंका के खिलाफ पहला T20 मैच मैदान पर उतरने से पहले ही गंवा चुकी थी.पोस्टमार्टम रिपोर्ट का खुलासा: कोलंबो में मैदान पर उतरने से पहले ही मैच हार चुकी थी टीम इंडिया

  • निहादस ट्रॉफी में भारत की हार से शुरुआत

  • पहले मैच में श्रीलंका ने 5 विकेट से हराया

  • धवन की 90 रन की पारी के बावजूद हारा भारत

1. सबसे कम अनुभवी टीम- किसी टूर्नामेंट या सीरीज में आपने शायद ही पहले कभी ये देखा या सुना होकि टीम इंडिया का अनुभव बाकी टीमों के मुकाबले सबसे कम है. लेकिन, निदाहस ट्रॉफी में ऐसा ही हुआ है. ट्राएंगुलर T20 सीरीज में शिरकत कर रही टीम इंडिया का अनुभव श्रीलंकाई और बांग्लादेशी टीम के मुकाबले सबसे कम है. श्रीलंकाई टीम का अनुभव जहां 293 मैचों का है वहीं टीम इंडिया के पास सिर्फ 257 मैचों का ही अनुभव है. कोलंबो में खेले पहले T20 में श्रीलंका का ये अनुभव ही भारतीय टीम पर भारी पड़ गया. वैसे, हैरान करने वाली बात तो ये है कि अनुभव के मामले में बांग्लादेशी टीम इस टूर्नामेंट में भारत और श्रीलंका दोनों पर बीस है. बांग्लादेश के पास 341 मैचों का अनुभव है.

2. कमजोर टीम सलेक्शन – टूर्नामेंट में टीम इंडिया की अनुभवहीनता उसके प्लेइंग इलेवन में भी साफ दिखी. कप्तान रोहित शर्मा और भारतीय टीम मैनेजमेंट ने जो टीम चुनी वो कहीं से भी एक मैच विनिंग कॉम्बिनेशन नहीं लग रही है. श्रीलंका के खिलाफ पहले T20 में भारतीय टीम के प्लेइंग इलेवन ने कई सवाल खड़े किए, जो बड़े बड़े क्रिकेट पंडितों के हलक से नीचे नहीं उतर रहे. सवाल ये कि प्लेइंग इलेवन में एक साथ दिनेश कार्तिक और रिषभ पंत को खिलाने की क्या वजह थी, जबकि ये दोनों विकेटकीपर बल्लेबाज हैं ? क्या कार्तिक और पंत में से किसी एक की जगह लोकेश राहुल को नहीं खिलाया जा सकता था , जिनका इंटरनेशनल T20 में औसत 50.88 का है और स्ट्राइक रेट 147.74 का .

3. धवन ही खेलेंगे तो बाकी क्या करेंगे- कोलंबो T20 में टीम इंडिया जब बल्लेबाजी कर रही थी तो ऐसा लग रहा था कि सिर्फ धवन ही खेल रहे हैं. वही रन बना रहे हैं और बाकी बल्लेबाज तमाशा देख रहे हैं. हम ऐसा यूं ही नहीं कह रहे बल्कि इसके पीछे हमारी पूरी रिसर्च है. धवन ने कोलंबो T20 में श्रीलंका के खिलाफ 49 गेंदों पर 90 रन बनाए, 183.67 की स्ट्राइक रेट से, 6 छक्कों और 6 चौकों के साथ. वही बाकी भारतीय बल्लेबाजों ने मिलकर 71 गेंदों पर सिर्फ 74 रन बनाए, 104.22 की स्ट्राइक रेट से, 2 छक्के और 6 चौकों के साथ. धवन और बाकी बल्लेबाजों के बीच इसी बड़े फर्क की वजह से टीम इंडिया ने प्रेमदासा की सपाट पिच पर श्रीलंका के खिलाफ 30 से 35 रन कम बनाए जिस वजह से उसे हार का सामना करना पड़ा.

4. रोहित शर्मा का डर हुआ हावी- टीम इंडिया के कार्यवाहक कप्तान रोहित शर्मा को पहले से ही ये डर था कि कुछ भी हो सकता है. एक ओवर मैच का पासा पलट सकता है. और, वैसा ही हुआ भी. मैच में गेंदबाज शार्दुल ठाकुर पहला ओवर टीम इंडिया पर भारी पड़ गया, जिसमें वो 27 रन दे बैठे. ये मुकाबले का सबसे महंगा ओवर था. वहीं इंटरनेशनल T20 में किसी भारतीय गेंदबाज का दूसरा सबसे महंगा ओवर था. इसका असर ये हुआ कि 175 रन के टारगेट का पीछा करते हुए श्रीलंकाई टीम ने पावरप्ले में ही 75 रन बना डाले. ये भारत के खिलाफ पावरप्ले में किसी टीम का दूसरा बड़ा स्कोर था.