पीजीआई इलाके में व्यापारी व उसकी पत्नी को बंधक बनाकर की डकैती

नकाबपोश आधा दर्जन बदमाशों ने दिया वारदात को अंजाम
पेंचकस, लोहे की रॉड से लैस डकैतों ने खंगाला डेढ़ घण्टे तक घर
पीडि़त को चादर से बांधा, महिला को बाथरूम में बंद कर हुए फरार
लखनऊ। पीजीआई इलाके में आधा दर्जन नकाबपोश बदमाशों ने व्यापारी व उसकी पत्नी को बंधक बनाकर करीब डेढ़ घण्टे तक डकैती की। विरोध करने पर बदमाशों ने व्यापारी की लाठी, सरिया व लोहे की रॉड से पिटाई कर दी। पति की पिटाई से सहमी महिला ने बदमाशों ने स्टोर में रखी अलमारी दिखा दी। अलमारी का ताला तोडक़र बदमाश लाखों रुपये के जेवरात और लाखों रुपये नगद पार कर भाग निकले। बदमाशों के जाने पर पीडि़त द पत्ति चीखने-चिल्लाने लगे। शोर सुनकर उनके पड़ोस के कमरे में सो रहा बेटा आकाश और बेटी श्रद्घा मौके पर पहुंच गए। बेटे ने अपने पिता और मां को बंधक मुक्त किया और मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस को दी। मौके एसएसपी कलानिधि नैथानी समेत तमाम पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए। घटना स्थल पर फारेंसिक टीम, फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट, डॉग स्क्वायड पहुंचा था। पीडि़त के मुताबिक बदमाश उनके घर से करीब 35 लाख के जेवरात और 15 लाख रुपये नगद ले गए हैं।

थाना प्रभारी पीजीआई ने बताया कि तेलीबाग सुहानी खेड़ा स्थित मु य मार्ग पर प्रतिष्ठिïत व्यापारी मोतीलाल अग्रवाल परिवार समेत रहते हैं। उनकी गोयल जनरल स्टोर के नाम से किराना दुकान है। बेसमेंट और ग्राउंड लोर पर वे दुकान चलाते हैं जबकि परिवार प्रथम तल पर रहता है। उन्होंने बताया कि वो और उनकी पत्नी सरोज अपने कमरे में सो रहे थे जबकि बेटा आकाश और बेटी श्रद्धा दूसरे कमरे में सो रहे थे। सुबह के करीब पांच बजे 4.00 नकाबपोश आधा दर्जन बदमाश हाथ में सरिया, पेंचकस और असलहे लेकर उनके कमरे में घुस आए। बदमाशों ने मेातीलाल अग्रवाल को सोते से जगाया। उनकी आवाज सुनकर पत्नी सरोज की भी आंख खुल गई। कमरें में आधा दर्जन बदमाशों को देखकर मोतीलाल के पैरों तले जमीन खिसक गई। बदमाशों ने मोतीलाल को दबोच लिया और घर में रखे जेवरात व नगदी की जानकारी हांसिल करने लगे। मोतीलाल बदमाशों का विरोध करने लगे। इस पर बदमाशों ने उनके बच्चों को जान से मार देने की धमकी दी। मोतीलाल और उनकी पत्नी सहम गई। सरोज ने बदमाशों को स्टोर रूम में रखी अल्मारी का ठिकाना बता दिया। इस पर दो बदमाश स्टोर रूम में पहुंच गए, जबकि तीन बदमाश मोतीलाल और उनकी पत्नी की निगरानी कर रहे थे। बदमाशों ने अल्मारी का ताला तोड़ डाला और उसमें रखे जेवरात और नगदी निकाल ली। जाते समय बदमाशों की नजर सरोज के गहनों पर पड़ गई। बदमाशों के कहने पर सरोज ने सारे गहने उतार कर उनके हवाले कर दिए। बदमाशों ने मोतीलाल को चादर से बांध दिया और उनकी पत्नी को बाथरूम में बंद कर करीब 5.30 बजे भाग निकले। बदमाशों के जाते ही मोतीलाल चीखने-चिल्लाने लगे। शोर सुनकर पड़ोस के कमरे में सो रहा बेटा आकाश और बेटी श्रद्घा पहुंच गई। आकाश ने अपने पिता को बंधन मुक्त किया और मां को बाथरूम से निकाला। मोतीलाल ने आनन-फानन में मामले की जानकारी स्थानीय पुलिस और 100 न बर पर दी। सूचना पाकर मौके पर स्थानीय पुलिस पहुंच गई। जिसके बाद एसएसपी कलानिधि नैथानी, एएसपी नार्थ सर्वेश मिश्रा और सीओ कैण्ट तनु उपाध्याय पहुंच गई। घटना स्थल पर पहुंचे फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट और फारेंसिक टीम ने कई नमूने लेकर जांच के लिए भेज हैं। एसएसपी का कहना है कि सटीक मुखबरी के चलते बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया है। हालांकि पीडि़त की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।
पढे:ताबड़तोड हुई हत्याओं से सहमी राजधानी, भाई के चचेरे ससुर को पीट कर मार डाला
तीन चैनलों के ताले तोडक़र दाखिल हुए घर में
पीडि़त के मुताबिक, मकान के निचले हिस्से में जनरल स्टोर में 3 चैनल लगे हुए हैं। नकाबपोश डकैत तीन चैनल गेटों पर लगे पांच तालों को तोडक़र दंपती के कमरे तक पहुंचे थे। मोतीलाल ने बताया कि घर के मु य चैनल गेट पर लगे दो ताले, सीढिय़ों पर लगे चैनल का ताला और आवासीय तल के चैनल पर लगे दो तालों को तोड़ डाला था। जिसके बाद बदमाश व्यापारी के कमरे में दाखिल हुए थे।
घर में लगे कैमरे तोड़े, डीवीआर सुरक्षित मिली
डकैतों को घर में लगे हर सीसीटीवी कैमरे की जानकारी थी। मु य द्वार से अंदर घर तक चार सीसीटीवी कैमरे लगे थे, सभी कैमरों को बदमाशों ने तोड़ दिया है। हालांकि बदमाश कैमरों की डीवीआर वहीं सुरक्षित छोड़ गए हैं। पुलिस ने डीवीआर को कब्जे में ले लिया है। जबकि एक कैमरा सुरक्षित मिला है। जिसकी फुटेज में मोटरसाइकिल से आते हुए कुछ युवक दिखाई दिए हैं। हालांकि पुलिस का कहना है कि उक्त फुटेज घटना के पहले की है। पुलिस डीवीआर के माध्यम से फुटेज निकालकर बदमाशों की शिना त करने के प्रयास में जुटी है।

शक की सुई टिकी कर्मियों पर
एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि सटीक मुखबिरी के चलते घटना को अंजाम दिया गया है। डकैती की वारदात से प्रतीत हो रहा है कि बदमाश पेशेवर नहीं हैं। मोतीलाल अग्रवाल बड़े व्यापारी हैं, उनके घर में लगभग रोजाना ट्रक से भर कर माल आता है। कारोबार में कई कर्मचारी भी हैं। एसएसपी ने शक जताते हुए बताया कि किसी कर्मी की मुखबिरी से वारदात को अंजाम दिया गया है। इसके अलावा पीडि़त मोतीलाल ने खुद भी बदमाशों के साथ किसी कर्मचारी की मिलीभगत की आशंका जताई है।
बार-बार दे रहे थे गोली मारने की धमकी
मोतीलाल की पत्नी सरोज ने बताया कि बदमाशों ने सबसे पहले उनके पति को घेर लिया था, जबकि दो बदमाश ने उन्हें दबोच लिया। बदमाश घर में रखी ज्वैलरी व नगदी का ठिकाना पूंछ रहे थे। विरोध करने पर उन्होंने बच्चों को जान से मारने की धमकी दी। इसके अलावा बदमाश बार-बार मोतीलाल को गोली मारने की बात कह रहे थे, लेकिन किसी के पास असलहा दिखाई नहीं दिया था।
48 घण्टों में खुलासा न होने पर व्यापारियों ने दी प्रदर्शन की चेतावनी
घटना स्थल पर पहुंचे आदर्श व्यापर मंडल के प्रदेश अध्यक्ष संजय गुप्ता ने कहा कि लखनऊ में व्यापारियों के साथ आये दिन लूट की घटनाएं हो रही हैं। बदमाशों से व्यापारी बहुत परेशान हो गए हैं। उन्होंने कहा कि घटना की जानकारी मिलते ही तेलीबाग व्यापार मंडल के अध्यक्ष राजन मिश्रा भी संगठन के क्षेत्रीय पदाधिकारियों के साथ पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि घटना से शहर के व्यापारियों में काफी आक्रोश है। उन्होंने एसएसपी कलानिधि नैथानी से कहा कि पुलिस अगर 48 घंटो में घटना का खुलासा नहीं करती है तो व्यापारी सडक़ों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करने के लिए बाध्य होंगे।
The post पीजीआई इलाके में व्यापारी व उसकी पत्नी को बंधक बनाकर की डकैती appeared first on .

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button