पीएम मोदी के भाई की इस अपील को सुन हिल जायेंगे तेली समुदाय के लोग

जी हाँ!! पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी की इस अनोखी और प्यार भरी अपील को सुन कर के तेली समुदाय के लोग हिल जायेंगे|उन्होंने अपने भाई कि तरक्की को देख पूरे देशभर के तेली जाति के लोगों से अपील किया है कि वो अपने नाम के आगे मोदी लगायें|

पीएम मोदी के भाई की इस अपील को सुन हिल जायेंगे तेली समुदाय के लोग

देश में नोटबंदी को लेकर बयानों का दौर जारी है। पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी ने अब एक बयान दिया है। जिसके बारे में जानकर आप चौंक जाएंगे। मध्य प्रदेश के भोपाल में उन्होने तेली समाज से एक खास अपील की है। प्रह्लाद मोदी ने कहा है कि तेली समुदाय के लोग अपने नाम के आगे मोदी लिखे। प्रह्लाद तैलिक साहू समाज की अखिल भारतीय युवक-युवती परिचय सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा कि जब से वो यहां आए हैं एक ही बात सुन रहे हैं कि देश का गौरव, समाज का गौरव नरेंद्र मोदी हैं। अगर वो हमारे गौरव हैं तो हम अपने नाम के आगे मोदी क्यों नहीं लिखते हैं। मोदी लिखने में संकोच क्यों करते हैं। प्रह्लाद मोदी का ये बयान चर्चा का केंद्र बना हुआ है।

प्रह्लाद मोदी ने कहा कि हमारे तेली समाज के नेताओं ने अपनी-अपनी सियासी रोटियां सेंकने के लिए हमारी पहचान साहू, चौहान, परमार, राठौड़ और जैसवाल जैसी अलग-अलग जातियों के रूप में कर रखी है। पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी ने कहा कि कर्मादेवी तेली थीं, हम कर्मादेवी के बच्चे हैं और हम तेली है। उन्होने कहा कि हम मोदी हैं, आज से ही हम ये तय करें कि हमारे नाम की शुरुआत मोदी से करें। प्रह्लाद मोदी ने कहा कि अगर हम मोदी के नाम से अपना परिचय करेंगे तो देश में तेली समुदाय की आबादी 14 करोड़ हो जाएगी। ये सब जानते हुए भी हम बंटे हुए हैं। हमारे समुदाय में गुटबाजी हो रही है। राजनीतिक पार्टियां हमें बेवकूफ बनाती रही हैं। हमारा सियासी इस्तेमाल किया जा रहा है। अब वक्त आ गया है कि हमें एक होना चाहिए।

पीएम मोदी के भाई प्रह्लाद मोदी ने कहा कि हमें हमारा परिचय एक करना होगा। सभी लोग कह रहे हैं कि नरेंद्र मोदी देश का, समाज का गौरव हैं। तो हमें अपने नाम के साथ मोदी लगाना चाहिए। जब तक हम एक नहीं होंगे तब तक राजनीतिक पार्टियां हमारा दुरुपयोग करती रहेंगी। अगर हमें इस दुरुपयोग से बचना है। हमें अपने समाज को राष्ट्रीय अखाड़ा नहीं बनाना है। तो हमें अपनी पहचान को एक करना होगा। प्रह्लाद मोदी ने कहा कि पाटीदारों और राजपूतों के अंदर भी तेली समाज की तरह कई जातियां हैं। लेकिन उनकी राष्ट्रीय पहचान यही है कि वो पाटीदार और राजपूत हैं। वो एक हैं इसलिए उनकी आवाज सुनी जाती है। उनकी मांगों पर गौर किया जाता है। बता दें कि पीएम मोदी के परिवार के सदस्य अक्सर चर्चा में नहीं रहते हैं। लेकिन इस बार प्रह्लाद मोदी का बयान चर्चा बटोर रहा है।

पीएम मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद भी उनका परिवार बेहद साधारण स्थिति में रहता है। उनके परिवार के सदस्य राजनीतिक विषयों पर कम ही बोलते हैं। ऐसे में प्रह्लाद मोदी का ये बयान सियासत का कारण बन सकता है। उन्होने तेली समाज से एक होने की अपील की है। आशंका है कि उनके इस बयान का सियासी इस्तेमाल किया जा सकता है। उनके बयान को आधार बनाकर विरोधी दल बीजेपी और नरेंद्र मोदी पर जातिवादी राजनीति करने का आरोप लगा सकते हैं। फइलहाल अभी तक उनके बयान पर किसी बीजेपी नेता की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। कुल मिलाकर प्रह्लाद मोदी का ये बयान विवादों का कारण बन सकता है। हालांकि प्रह्लाद मोदी के बयान में कोई सियासी एजेंडा नहीं दिखाई दिया। मगर राजनीति के लिए मुद्दों की तलाश में बैठे नेताओं को इस बयान में मुद्दा मिल सकता है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button