पश्चिम बंगाल की लड़की से कथित रेप के बाद हत्या को लेकर बवाल जारी, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में नहीं मिले शरीर पर कोई भी निशान

पश्चिम बंगाल के उत्तरी दिनाजपुर में एक बच्ची से कथित रेप के बाद हत्या को लेकर बवाल जारी है. इस बीच बच्ची की पोस्टमार्टम रूप में खुलासा हुआ है कि उसके साथ कोई यौन उत्पीड़न की घटना नहीं हुई है. आजतक को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कहीं भी यौन उत्पीड़न की कोशिश या उसकी इंजरी का जिक्र नहीं है.

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के मुताबिक, बच्ची की मौत अधिक मात्रा में जहर पीने की वजह से हुई है. उसके शरीर पर कोई भी इंजरी नहीं है. लोगों का दावा है कि लड़की को पहले अगवा किया गया, फिर उसके साथ रेप किया गया, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में लड़की के शरीर पर कोई भी खरोच के निशान नहीं है.

उत्तरी दिनाजपुर जिले के चोपड़ा विधानसभा क्षेत्र के सोनारपुर इलाके में 15 वर्षीय बच्ची की लाश मिली थी. उसकी लाश घर से 500 मीटर की दूरी पर एक पेड़ के नीचे मिली थी. लाश के पास से जहर की कुछ बोतलें और एक मोबाइल फोन मिला था. यह फोन किसी फिरोज नामक शख्स का बताया जा रहा है. परिवार का आरोप है कि बच्ची की हत्या की गई है.

परिवार ने आरोप लगाया था कि लड़की के साथ कथित तौर पर रेप किया गया है और उसकी हत्या कर दी गई, लेकिन पुलिस के पास सबूत है कि लड़की फिरोज नाम के लड़के को पहले से जानती थी और वह उसके साथ पहले भी नजर आ चुकी थी. बीजेपी का दावा है कि लड़की उसके कार्यकर्ता की बहन है और पूरे प्रदेश में विरोध प्रदर्शन किया जाएगा.

इस घटना के बाद रविवार को स्थानीय लोगों ने राष्ट्रीय राजमार्ग-31 जाम करके जमकर हंगामा किया और बसों में आग भी लगा दिया. गुस्साए लोगों ने कार्रवाई की मांग की. लोगों का उग्र प्रदर्शन देख पुलिस को लाठीचार्ज का सहारा लेना पड़ा. पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे. प्रदर्शन के मामले में तीन लोग गिरफ्तार किए जा चुके हैं.

इस मामले में तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी ने लड़की की मौत के मामले में फेक न्यूज फैलाने की कोशिश की. इस मामले में सांप्रदायिकरण और राजनीतिकरण करने की कोशिश की गई, लेकिन बीजेपी का झूठ पकड़ा गया. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सच्चाई सामने आ गई है.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button