परिकर के निधन से गोवा में भाजपा की बढ़ी मुश्किले

पणजी। गोवा में मनोहर परिकर के निधन के बाद राजनीतिक संकट शुरू हो गया है। बीजेपी के सामने अब पर्रिकर की जगह नए नेता की तलाश की चुनौती पैदा हो गई  है।वहीं कांग्रेस ने 48 घंटों के अंदर दूसरी बार राज्यपाल को पत्र लिखकर सरकार बनाने का दावा पेश किया है। देर रात केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी राज्य पहुंचे और विधायकों के साथ बैठक की।
ये भी पढ़ें :-48 घंटे में कांग्रेस ने फिर किया गोवा में सरकार बनाने का दावा,कहा- नहीं है भाजपा का कोई सहयोगी 
आपको बता दें कांग्रेस और भाजपा ने देर रात अपने विधायक दल की बैठक बुलाई ताकि मुख्यमंत्री उम्मीदवार का चयन हो सके, लेकिन दोनों ही पार्टियों में आम सहमति नहीं बन पाई है। केंद्रीय मंत्री गडकरी ने गोवा फॉरवर्ड पार्टी के नेता विजय सरदेसाई के आवास पर विधायकों के साथ बैठक की। बैठक के बाद सरदेसाई ने कहा कि उन्होंने परिकर को अपना समर्थन दिया था न कि भाजपा को। अब जब परिकर नहीं हैं तो उनके पास विकल्प खुले हुए हैं। उनका कहना है कि वह राज्य में स्थिरता चाहते हैं। वह नहीं चाहते कि राज्यपाल सदन को भंग कर दें।
ये भी पढ़ें :-BJP के सभी आधिकारिक कार्यक्रम रद्द, पर्रिकर की अंतिम यात्रा में शामिल होंगे गृह मंत्री राजनाथ 
जानकारी के मुताबिक गोवा के मुख्यमंत्री पर्रिकर का रविवार को 63 वर्ष की आयु में निधन हो गया, वह लंबे वक्त से पैन्क्रियाटिक कैंसर से ग्रसित थे. वह गोवा में एक गठबंधन सरकार है, जिसमें बीजेपी, गोवा फॉरवर्ड पार्टी, एमजीपी और निर्दलीय विधायक शामिल हैं। पर्रिकर के निधन के बाद कांग्रेस और बीजेपी दोनों ही दल बैठकें मौजूदा हालात पर मंथन में जुट गए हैं।वहीँ कांग्रेस के विधायक दल ने नेता प्रतिपक्ष चंद्रकांत कावलेकर के आवास पर बैठक की ताकि सत्ता में आने के लिए अगले कदम को लेकर रणनीति बनाई जा सके।कांग्रेस में इस बात को लेकर आशंका है कि भाजपा राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करवा सकती है। वहीं भाजपा खेमे में यह चर्चा है कि विधानसभा अध्यक्ष प्रमोद सावंत को अतंरिम मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button