पद्मावती को लेकर लगातार संग्राम जारी, दुर्ग बंद कर हुआ उग्र प्रदर्शन

जयपुर। संजय लीला भंसाली की फिल्म “पद्मावती ” को लेकर राजस्थान में संग्राम जारी है । फिल्म पर रोक की मांग को लेकर चल रहा  विरोध प्रदर्शन अब हिंसक होने लगा है । फिल्म के निर्माण के समय से ही विरोध कर रहे श्री राजपूत करणी सेना के संरक्षक लोकेन्द्र सिंह कालवी को बम से उड़ाने की धमकी मिलने की बात सामने आई है ।

पद्मावती को लेकर लगातार संग्राम जारी, दुर्ग बंद कर हुआ उग्र प्रदर्शनपाकिस्तान से कालवी के मोबाइल पर आए एक फोन पर फिल्म के प्रदर्शन का विरोध बंद करने की चेतावनी देते हुए कहा गया कि यदि उन्होंने विरोध जारी  रखा तो आने वाले दिनों में उन्हे बम से उड़ा दिया जाएगा । करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना ने बताया कि  कालवी को आए फोन के नम्बर और समस्त जानकारी एसओजी के आईजी दिनेश एम.एन.को देने के साथ ही जयपुर पुलिस कमिश्नर संजय  अग्रवाल को लिखित में शिकायत दी गई है ।

लोकेन्द्र सिंह कालवी ने फिल्म में दाउद इब्राहीम का पैसा लगा होने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हे धमकी भी दाउद के गुर्गों ने ही दी है । कालवी ने प्रधानमंत्री से इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग करते हुए कहा कि केन्द्र एवं राज्य के कई मंत्री,सांसद और विधायक इस फिल्म पर रोक लगाने की मांग कर चुके हैं । राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह ने  भंसाली को “भांड़” बताते हुए कहा कि भंसाली ने अपनी अधिकांश फिल्में दाऊद इब्राहीम के पैसों से बनाई है । एक विडियो जारी कर उन्होंने भंसाली और   अभिनेत्री दीपिका पादुकोण को परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहने की चेतावनी देते हुए कहा कि इन दोनों को अगले कुछ दिनों में सबक सिखाया जाएगा । राजस्थान बुनकर संघ के पूर्व अध्यक्ष राधेश्याम सिंह तंवर ने एक बयान में कहा कि यदि 1 दिसम्बर को   फिल्म रिलीज हुई तो संजय लीला भंसाली की गर्दन काट दी जाएगी । उन्होंने कहा कि राजपूत समाज ही नहीं बल्कि पूरा हिन्दू समुदाय फिल्म के विरोध में है,फिर भी अभी तक  सरकार की ओर से रोक लगाने की घोषणा नहीं की गई ।अब राजपूत समाज ही भंसाली  के बारे में निर्णय करेगा  इधर फिल्म “पद्मावती” के विरोध में शुक्रवार को चित्तोड़ द़र्ग बंद रहा ।

राजपूत समाज सहित विभिन्न समाजों के लोगों ने बड़ी संख्या में दुर्ग के प्रवेश द्वार पर एकत्रित होकर धरना-प्रदर्शन किया । इस दौरान भीड़ में से किसी अज्ञात ने हवाई फायर भी किया । अचानक हुए  हवाई फायर से सनसनी फैल गई । पुलिस ने लोगों ने ऐसा नहीं करने के लिए समझाया ।

अभिनेता सलमान खान द्वारा पद्मावती का समर्थन करने से नाराज लोगों ने उनका पुतला दहन किया । जौहर स्मृति  संस्थान के अध्यक्ष उम्मेद सिंह के नेतृत्व में पिछले कई दिनों से दुर्ग के बाहर धरना दिया जा रहा है और शुक्रवार  को विरोध स्वरूप दुर्ग का मुख्य द्वार बंद कर दिया गया । यहां पुरूषों के साथ बड़ी संख्या में महिलाएं भी एकत्रित हुई । बीकानेर,अजमेर,कोटा,सीकर में भी फिल्म के विरोध में शुक्रवार को प्रदर्शन किए गए । 

 शाही रेलगाड़ी के पर्यटक नहीं देख सके चित्तोड़ दुर्ग 

 फिल्म “पद्मावती ” को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन के कारण शाही रेलगाड़ी (पैलेस आॅन व्हील्स ) के पर्यटक चित्तोड दुर्ग नहीं देख सके । शाही रेलगाड़ी में सैर करने वाले पर्यटकों के लिए हमेशा ही आकर्षण का केन्द्र रहा चित्तोड़ दुर्ग शुक्रवार और शनिवार को बंद रखा गया है । दुर्ग के प्रवेशद्वार पाडनपोल पर शुक्रवार को 9वें दिन भी धरना और प्रदर्शन जारी रहने के कारण आईआरटीसी ने शाही रेलगाड़ी के पर्यटकों को चित्तोड़ दुर्ग दिखाए बिना सीधे ही उदयपुर ले जाने का निर्णय किया है । 

 मंत्री,सांसद और विधायकों ने जताई नाराजगी 

राजस्थान के संसदीय कार्यमंत्री राजेन्द्र राठौड़,उच्च् शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी,देवस्थान मंत्री  राजुकुमार रिणवां,सांसद सी.पी.जोशी,विधायक भवानी सिंह राजावत,ज्ञानदेव आहुजा,कांग्रेस विधायक धीरज गुर्जर ने फिल्म पद्मावती में रानी  पद्मनी के इतिहास से छेड़छाड़ पर नाराजगी जताते हुए फिल्म पर रोक लगाने की मांग की है । 

Facebook Comments

You may also like

सरेंडर करने पहुंचे अमानतुल्लाह ने पहने थे ऐसे कपड़े सोशल मीडिया पर हो गए ट्रोल

दिल्ली में मुख्य सचिव और सरकार के बीच