पंजाब-फीस बढ़ोतरी के विरोध में सड़क पर उतरे पीयू के स्टूडेंट्स, पुलिस ने किया लाठीचा…

चंडीगढ़। पंजाब यूनिवर्सिटी और शहर के एफिलिएटेड कॉलेजों में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ वीरवार को भी विद्यार्थी सड़क पर उतर आए। पीयू प्रशासन द्वारा आगामी सत्र से फीस 12 से 14 फीसद तक बढ़ाने के खिलाफ कई दिनों से विरोध प्रदर्शन कर रहे विद्यार्थियों को वीसी ऑफिस के बाहर रोकने और स्थिति पर काबू पाने के लिए पुलिस को वाटर कैनन से बौछारें छोडऩी पड़ी और हल्का लाठीचार्ज करना पड़ा।

CM योगी बोले- रिहायशी इलाकों में बंद कराएंगे शराब की दुकानें

 पंजाब यूनिवर्सिटी

अभी अभी: पीएम मोदी के दुश्मन ने सीएम योगी से कहा, सिर झुका के माफी मांग लो वरना जिंदगी बर्बाद कर दूंगा

वाटर कैनन के प्रयोग से 6-7 लड़के और लड़कियों को हल्की चोट भी आई। विरोध कर रहे कई विद्यार्थियों के चश्मे और मोबाइल फोन भी टूट गए।  उधर, पुलिस ने 5 युवकों को हिरासत में ले लिया, लेकिन कड़े विरोध के बाद उन्हें छोड़ दिया गया। सुबह 11 बजे शुरू हुआ प्रदर्शन शाम चार बजे तक चला। इसके बाद विद्यार्थी 11 अप्रैल को रणनीति बनाने की बात कहकर लौट गए।

पीयू कैम्पस में विरोध का क्रम वीरवार को सुबह 11 बजे ही शुरू हो गया था। पहले पोस्ट ग्रेजुएट गवर्नमेंट कॉलेज फॉर गल्र्स (पीजीजीसीजी) सेक्टर-11 की छात्राएं वीसी ऑफिस के बाहर पहुंची। यहां पुलिस ने पहले ही सुरक्षा घेरा बना रखा था। छात्र-छात्राओं ने वीसी ऑफिस के बाहर लगाए बैरिकेड तोड़कर भीतर जाने की कोशिश की। पुलिस ने स्थिति पर नियंत्रण रखने के लिए वाटर कैनन और बल का इस्तेमाल किया। वाटर कैनन के इस्तेमाल के बाद कुछ देर के लिए संघर्ष कमजोर हुआ लेकिन नारेबाजी के चलते स्टूडेंट्स फिर सुरक्षा घेरे पर हावी हो गए। प्रदर्शन में पीयू के साथ ही शहर के अन्य कॉलेजों से करीब 700 छात्र-छात्राएं शामिल हुए। 

छात्रा के कपड़े फाडऩे का आरोप

फीस बढ़ोतरी के विरोध के चलते बुधवार को छात्रा ने आरोप लगाया था कि पुलिस प्रदर्शन में डटे विद्यार्थियों को पकड़कर ले जा रही थी। इस दौरान पुलिस और छात्र छात्राओं में धक्कामुक्की हो गई। इसके चलते उसकी टी-शर्ट फट गई थी। मौके पर तुरंत अन्य छात्राओं ने दोबारा कपड़े पहनाए। छात्रा का आरोप था कि जब उसके कपड़े फटे तो उस समय कोई महिला कांस्टेबल सामने नहीं आई। इस घटना की शिकायत छात्रा ने वाइस चांसलर से की है, पुलिस को अभी तक इस बारे में शिकायत नहीं दी है। 

वीसी की गाड़ी नहीं निकलने दी

वीसी दफ्तर के सामने विद्यार्थियों के कड़े विरोध को देखते हुए सुबह से ही पुलिस तैनात कर दी गई थी। हंगामे के बाद अतिरिक्त पुलिस बुलानी पड़ी। दोपहर बाद तक प्रदर्शन कर रहे विद्यार्थियों ने वीसी की गाड़ी को दफ्तर से बाहर नहीं निकलने दिया। वीसी ऑफिस में जाने वालों को पिछले दरवाजे से आना पड़ा।

11 अप्रैल को पीयू कक्षाओं का बहिष्कार

फीस बढ़ोतरी को लेकर अब पीयू और कॉलेजों के छात्र नेताओं ने विरोध की तैयारी शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार 11 अप्रैल को पीयू की सभी कक्षाओं का बहिष्कार किया जाएगा। पीयू प्रशासन ने अगर फैसले को वापस नहीं लिया तो छात्र नेता आगे की रणनीति पर फैसला लेंगे। पीयू में एसएफएस, सोई सहित सभी छात्र संगठन फीस बढ़ोतरी पर एक सुर में बोल रहे हैं। वीरवार को फीस बढ़ोतरी को लेकर शहर के अधिकतर कॉलेजों में भी वीरवार को कक्षाओं का बहिष्कार हुआ। जीसी-11, एसडी-32, डीएवी-10, जीसीजी-11 और सेक्टर-26 स्थित गुरु गोबिंद सिंह कॉलेज में भी फीस बढ़ोतरी के खिलाफ विरोध जारी रहा।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button