फाइनल में पहले ही जगह बना लेने के बावजूद भारतीय फुटबाल टीम कल इंटर कांटिनेंटल कप के आखिरी लीग मैच में न्यूजीलैंड की युवा टीम के सामने उतरेगी तो उसका इरादा कोई कोताही बरते बिना अपने अपराजेय अभियान को बरकरार रखने का होगा. चार देशों के इस टूर्नामेंट के शुरूआती मैचों में स्टेडियम खाली पड़ा था लेकिन भारतीय कप्तान सुनील छेत्री के डेढ मिनट के भावुक वीडियो के बाद दर्शक मैदान में उमड़े. पिछला मैच छेत्री का 100वां अंतरराष्ट्रीय मैच था जिसमें दो गोल करके उन्होंने टीम को कीनिया पर 3.0 से जीत दिलाई. आयोजकों का दावा है कि कल के मैच और रविवार को होने वाले फाइनल के टिकट भी बिक चुके हैं.

चीनी ताइपे और कीनिया को हराने के बाद भारत के इरादे अब जीत की हैट्रिक लगाने के हैं. अब देखना यह है कि कोच स्टीफन कोंस्टेंटाइन छेत्री और डिफेंडर संदेश झिंगन को आराम देते हैं या उसी अंतिम एकादश को उतारते हैं. कीनिया के खिलाफ मैच भारी बारिश के बीच खेला गया और काफी थकाऊ था. कप्तान छेत्री अगर कल नहीं खेलते हैं तो बलवंत सिंह को मौका मिल सकता है. भारत के पास उदांता सिंह, अनिरुद्ध थापा और प्रणय हलधर जैसे आक्रामक मिडफील्डर भी हैं. प्रीतम कोताल की अगुवाई में भारत का डिफेंस भी मजबूत है. नारायण दास और सुभाशीष बोस के रहते कीवी स्ट्राइकरों के लिये गोल करना आसान नहीं होगा. जेजे लालपेखलुआ के लिए यह मैच खास होगा जो उनका 50वां अंतरराष्ट्रीय मैच है. भारत के पास गुरप्रीत सिंह संधू के रूप में बेहतरीन गोलकीपर हैं, लेकिन कल युवा विशाल कैथ या अमरिंदर सिंह को मौका मिल सकता है.

फीफा वर्ल्ड कप में इन 5 टीमों पर टिकी होंगी फैंस की निगाहें

भारत की चुनौती कठिन होगी : न्यूजीलैंड कोच

न्यूजीलैंड के कोच फ्रिट्ज शमिड ने स्वीकार किया है कि उनके खिलाड़ियों को फाइनल में प्रवेश की उम्मीदों को बरकरार रखने के लिए भारत से कड़ी चुनौती का सामना करना होगा. शमिड ने चीनी ताइपे को इंटर कांटिनेंटल कप में 1.0 से हराने के बाद पत्रकारों से कहा, ‘हमें इस मैच को भुलाकर अगले पर फोकस करना होगा. हमें आखिरी दिन मेजबान का सामना करना है जो कठिन है. पहले दो मैचों में भारत का प्रदर्शन देखने के बाद तय है कि उसकी चुनौती काफी कठिन होगी.’ न्यूजीलैंड के लिए कल मायेर बेवन ने 36वें मिनट में गोल दागा. चीनी ताइपे के कोच गैरी व्हाइट ने कहा, ‘मेरे खिलाड़ियों ने संघर्ष नहीं छोड़ा और मुझे खुशी है कि इस युवा टीम का भविष्य उज्जवल है. एक विवादित पेनल्टी पर मैच हारना दुखद है.’