नोवेल कोरोना वायरस हवा में मौजूद नहीं – भार्गव

नई दिल्ली 22 मार्च।भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक बलराम भार्गव ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का एकमात्र उपाय बाहर से आने वाले लोगों को अलग रखना है।
श्री भार्गव ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यह वायरस हवा में मौजूद नहीं है बल्कि संक्रमित व्‍यक्ति के छिकने या खांसने से दूसरों में फैलता है।उऩ्होने कहा कि..ये वायरस का टेस्‍ट जो है दो दिन कांटेक्‍ट के बाद से लेकर 14 दिन तक कभी भी पॉजिटिव हो सकता है। यदि आपने आज टेस्‍ट किया। नेगेटिव है,पांच दिन बाद पॉजिटिव हो सकता है। 14 दिन के बाद यदि आप करें तब ने‍गेटिव होने की उम्‍मीद है..।
उऩ्होने कहा कि इस बीमारी में 80 प्रतिशत लोग को हल्‍का जुकाम जैसा बुखार होगा और ठीक हो जाएंगे। 20 प्रतिशत में कुछ आपको खांसी, जुकाम, बुखार हो सकता है जिसमें से पांच प्रतिशत को अस्‍पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ती है।
श्री भार्गव ने बताया कि देश में अब तक कोरोना संक्रमण के 16 से 17 हजार मामलों की जांच हो चुकी है।देश में इस समय हम लोगों ने 111 लैब कर दिए हैं गर्वमेंट्स की।प्राइवेट लैब के लिए स्‍ट्रीक केटिरिया कर दिया है कि वो लोग कर दें, उनके पास हजारों में कलेक्‍शन सेंटर हैं और 60 करीब प्राइवेट लैब आई है हमारे पास रजिस्‍ट्रर कर दी हैं..।
 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button