नोटबंदी से गिरे दिल्ली की मंडियों में सब्जियों के भाव!

सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद देशभर के सब्जी मंडियों में कारोबार कम हुआ है. जिस वजह से सब्जियों, फल और दूसरी चीजें सस्ती हुई है. एबीपी न्यूज़ ने दिल्ली और दिल्ली एनसीआर के अलग-अलग सब्जी मंडियों की पड़ताल की. जाने क्या है मंडियों में सब्जी के भाव.

ओखला मंडी, दिल्ली- टमाटर 10 रुपये प्रति किलो

ओखला मंडी के टमाटर के थोक विक्रेता बिलाल के मुताबिक नोटबंदी के बाद से टमाटर के दाम आधे हो गए हैं. नोटबंदी से पहले जहां थोक मंडी में टमाटर 20 से 22 रुपये प्रति किलो के हिसाब से मिल रहा था वहीँ अब मंडी में टमाटर 10 रूपये प्रति किलो के हिसाब से मिल रहा है. हालात यह हैं कि इनके टमाटर न बिक पाने के चलते सड़ते जा रहे हैं. बिलाल का कहना है कि जो यहाँ पहले टमाटर खरीदने आते थे वो 200 या 300 का टमाटर खरीदकर 500 या 1000 का नोट देते थे जिसके छुट्टा आसानी से दिया जा सकता था लेकिन अब 200 रूपये के टमाटर खरीदने पर 2000 के नोट में 1800 रूपये लौटाना बेहद मुश्किल हो गया है.

 

बिलाल के मुताबिक नोटबंदी से पहले जहाँ रात को 3 बजे शुरू होने वाली इस ओखला मंडी का सारा काम 6 या 7 बजे तक सब्जी बेच कर ख़त्म हो जाता था वहीँ अब यहाँ कई बार दिन भर कई सब्जी विक्रेता सब्जी बेचने को मजबूर हैं.

आजादपुर मंडी, दिल्ली- प्याज 10 से 15 रुपये प्रति किलो

देश के सबसे बड़े मंडियों में से एक आजादपुर मंडी में नोटबंदी के बाद से प्याज के दाम कम हुए हैं. प्याज़ के थोक विक्रेताओं राकेश गुप्ता और महादेव से एबीपी न्यूज ने बात की. इन लोगों की माने तो 8 नवम्बर के बाद से प्याज के दाम पर 40-50 प्रतिशत तक का असर पड़ा है.

 

पहले जहां प्याज 10-15 रुपए प्रति किलो बिक रहा था वहीं अब 8-12 रुपए प्रति किलो तक बिक रहा है यानी तकरीबन 4-5 रुपए प्रति किलो की गिरावट आई है. थोक विक्रेताओं का कहना है कि नोटबन्दी का असर हुआ है और कैश की कमी की वजह से खरीददार कम आते हैं.  हालांकि इनका मानना है कि सरकार के नोटबन्दी का फैसले सही है.

दिल्ली से सटे गाजियाबाद का थोकमंडी- गोभी 8 रुपये किलो

एबीपी न्यूज़ ने दिल्ली से सटे गाजियाबाद के थोकमंडी का भी जायजा लिया. एबीपी न्यूज़ की पड़ताल में सामने आया है कि नोटबंदी के एलान के बाद सब्जियों के दामो में कमी आयी है. फूल गोभी जो नोटबंदी से पहले 20 रुपए किलो था आज 8 रुपए किलो बिक रहा है.

 

गाजीपुर मंडी, दिल्ली- पांच किलो गाजर सिर्फ 50 से 60 रुपये में

सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद दिल्ली के गाजीपुर मंडी के सब्जियों के थोक विक्रेताओं का कहना है कि 8 नवंबर के बाद से गाजर के दाम में भी गिरावट आयी है. गाजीपुर मंडी में कई सालों से थोक में सब्जी में बेचने वाले फारूक बताते हैं कि 8 नवम्बर के बाद से गाजर के रेट में बहुत गिरावट आयी है.

 

पहले एक धड़ी(5 किलो) 80-100 रूपये किलो तक में बिक जाती थी अब दाम गिरकर 50-60 रूपये धड़ी आ गया है. ग्राहक 60 रुपये का सामान 2000 का नोट लेकर खरीदने आ रहे है और बदले में हम उन्हें 1960 रुपये वापस कर रहे हैं, इसलिए भी बिक्री में मंदी आई है.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button