यहाँ महिलाएं इन पांच दिनों रहती हैं पूरी निर्वस्त्र, वजह जान कर दांतों तले दबा लेंगे उँगलियाँ

भारत के हर कदम-कदम पर रीति-रिवाज बदलते ही रहते हैं. हमारे देश में कई ऐसी भी परम्पराएं निभाई जाती है जिसके बारे में जानकर हर कोई हैरान हो जाता है. आज हम आपको एक ऐसी ही परंपरा के बारे में बता रहे हैं जिसके बारे में जानकर आप भी चौंक जाएंगे. जिस प्रथा के बारे में हम आपको बता रहे हैं वो हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले के अंतर्गत एक गांव में निभाई जाती है.

मणिकर्ण घाटी के एक पीणी नामक गांव में पति-पत्नी 5 दिन तक आपस में बात नहीं कर सकते हैं. इतना ही नहीं यहां 5 दिन तक महिलाएं एक भी कपड़ा नहीं पहन सकती हैं. उन्हें इन 5 दिन तक सिर्फ और सिर्फ ऊन से बने पट्टू ओढ़ने पड़ते हैं.

नहीं छू सकते मदिरा 

इन 5 दिनों के दौरान कोई भी मदिरा को छू भी नहीं सकता है. दरअसल यहां ऐसा माना जाता है कि लाहुआ घोंड देवता जब पीणी पहुंचे थे तो उस समय यहां राक्षसो का बोलबाला था. जिसके बाद भादो संक्रांति यानी काला महीने के पहले दिन ही देवता ने गांव के सभी राक्षसों का अंत कर दिया था.

ऐसा कहा जाता है कि इसके बाद से ही देव परंपरा के अनुसार यहां ये अनोखी विरासत शुरू हुई. इसके अंतर्गत स्त्री और पुरुष को 5 दिनों तक बात नहीं कर सकते हैं और महिलाओं को कपड़े की जगह पट्टू ओढ़ने पढ़ते हैं. इस बरसो पुरानी परंपरा का आज भी यहां के लोग पालन करते हैं.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button