निकाय चुनाव 2018: नामांकन पत्रों की जांच में मिली गड़बड़ी, अब ये प्रत्याशी नहीं लड़ सकेंगे चुनाव

निकाय चुनाव में पर्चा दाखिल होने के बाद आज यानी गुरुवार और शुक्रवार को नामांकन पत्रों की जांच की जाएगी। इसके बाद 27 अक्तूबर नामांकन पत्रों की वापसी के लिए रखा गया है, लेकिन इससे पहले पार्टी उम्मीदवार अपने-अपने पक्ष में निर्दलीय उम्मीदवारों को बैठाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहे हैं। नामांकन पत्रों की वापसी के बाद उम्मीदवारों की असल स्थिति साफ हो सकेगी।निकाय चुनाव 2018: नामांकन पत्रों की जांच में मिली गड़बड़ी, अब ये प्रत्याशी नहीं लड़ सकेंगे चुनाव

गुरुवार को नामांकन पत्रों की जांच के पहले दिन रुद्रपुर में निर्दलीय मेयर प्रत्याशी ममता रानी का नामांकन रद्द किया गया है। नजूल की भूमि पर कब्जा व नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर न होने पर रिटर्निंग ऑफिसर ने इनका नामांकन अस्वीकृत किया है।

रुद्रपुर में भाजपा के बागी व निर्दलीय मेयर प्रत्याशी सुरेश कोली के नामांकन पर भी तलवार लटक गई है। बीजेपी के प्रत्याशी रामपाल ने नजूल भूमि पर कब्जे के मामले में कोली के खिलाफ आपत्ति दर्ज कराई है। रिटर्निंग ऑफिसर ने इस बाबत नोटिस जारी किया है। खटीमा के नगर पालिका अध्यक्ष पद के निर्दलीय प्रत्याशी अनसुईया राणा का नामांकन भी खारिज कर दिया गया है। अनसुईया राणा पहले ही कांग्रेस प्रत्याशी सोनी राणा को समर्थन दे चुकी हैं।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button