द. अफ्रीका के इस पूर्व दिग्गज कप्तान ने कहा, एबी डिविलियर्स की भरपाई नामुमकिन

- in खेल

नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान ग्राम स्मिथ ने एबी डिविलियर्स के संन्यास को नेशनल टीम के लिए सबसे बड़ा झटका दिया है. उन्होंने डिविलियर्स की तुलना नंबर वन बल्लेबाज विराट कोहली से करते हुए कहा कि उनका जाना वैसा ही है जैसे अगर विराट कोहली भारतीय टीम से संन्यास लेने का ऐलान कर दें.द. अफ्रीका के इस पूर्व दिग्गज कप्तान ने कहा, एबी डिविलियर्स की भरपाई नामुमकिन

डिविलियर्स ने संन्यास लेकर चौंकाया

डिविलियर्स ने इसी महीने 23 मई को अचानक अपने संन्यास का ऐलान कर पूरी दुनिया को चौंका दिया था. आईपीएल में आरसीबी का सफर खत्म होने के साथ ही उन्होंने संन्यास लेने का ऐलान कर दिया था. किसी को भी उम्मीद नहीं थी कि वह अगले साल इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप टूर्नामेंट से पहले ही संन्यास ले लेंगे. डिविलियर्स कई बार कह चुके थे कि देश के लिए वर्ल्ड कप जीतना उनका सबसे बड़ा सपना है.

स्मिथ भी हुए फैसले से हैरान

डिविलियर्स के क्रिकेट करियर में सबसे अधिक समय तक कप्तान रहे ग्रीम स्मिथ ने कहा कि इस क्रिकेटर की भरपाई होना मुमकिन नहीं है. स्मिथ ने कहा, मैंने सोचा था कि वह 2019 वर्ल्ड कप के बाद रिटायर होंगे. लेकिन जब उन्होंने घरेलू सीरीज और फिर आईपीएल में जबरदस्त खेल दिखाया तो ये ख्याल मन से पूरी तरह निकल गया.

उन्होंने कहा, एबी जैसे खिलाड़ी को खोना कभी भरपाई नहीं होने वाला नुकसान है. हालांकि टीम में और भी कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी है, लेकिन उनका जाना ऐसा है जैसे कि टीम इंडिया से विराट कोहली का चले जाना. द. अफ्रीका ने एक एक्स फैक्टर वाला खिलाड़ी खो दिया है जो अपने दम पर टीम को जिताने का माद्दा रखता था. लोग उसे अभी और खेलते देखना चाहते थे.

स्मिथ ने कहा, इंटरनेशनल क्रिकेट में दबाव और लगातार यात्रा ने शायद डिविलियर्स को फैसला लेने पर मजबूर कर दिया हो. वह दो बच्चों के पिता भी हैं. ऐसे खिलाड़ी बहुत कम हैं जिन्होंने 14-15 साल लगातार खेला हो और साल के 9, 10 या 11 महीने यात्रा करने में ही गुजार दिए हों. क्रिकेट के दबाव के बीच परिवार का दबाव झेल पाना बहुत मुश्किल है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

इलाहाबाद की टीम ने जीती ओवरआल चैंपियनशिप ट्राफी

52वीं यूपी स्टेट जूनियर (अंडर-14 व अंडर-16) एथलेटिक्स