दूसरे क्वालीफायर में कोलकाता और हैदराबाद की होगी पक्की जंग

- in खेल
आईपीएल का 11वां सीजन अब अपने अंतिम पड़ाव पर है। छह टीमें बाहर हो चुकी हैं। तीन टीमें होड़ में हैं। इनमें से महेंद्र सिंह धोनी की चेन्नई सुपरकिंग्स सातवीं बार फाइनल का टिकट कटा चुकी है। केन विलियम्सन की सनराइजर्स हैदराबाद और दिनेश कार्तिक की कोलकाता नाइटराइडर्स में शुक्रवार को ईडन गार्डन में फाइनल के लिए जंग होगी। जीतने वाली टीम को रविवार को फाइनल में चेन्नई के साथ खेलने का मौका मिलेगा तो हराने वाली टीम बाहर हो जाएगी। ऐसे में दोनों ही टीमें खिताबी मुकाबले में जगह बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेगी। दूसरे क्वालीफायर में कोलकाता और हैदराबाद की होगी पक्की जंग

रंग में है कार्तिक की कोलकाता  
पिछले चार मैचों में लगातार जीत से कोलकाता के हौसले काफी बुलंद हैं। उसे घरेलू मैदान में खेलने का लाभ भी मिलेगा। कप्तान कार्तिक भी पूरी तरह से रंग में है। वह खुद शानदार फॉर्म में हैं। सुनील नारायण भी गेंद और बल्ले से अपना अहम योगदान दे रहे हैं। आंद्रे रसेल ने राजस्थान के खिलाफ 25 गेंदों पर 49 रन की पारी खेलकर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई। गेंदबाजी में कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव, पीयूष चावला और प्रसिद्ध कृष्णा भी प्रभाव छोड़ने में कामयाब रहे हैं। 
  
विलियम्सन पर निर्भर हैदराबाद 
वहीं, सनराइजर्स शुरुआत में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद अंत में लड़खड़ा गई है। उसे पिछले चार मैचों में हार का सामना करना पड़ा है, जोकि उसके लिए चिंता की बात है।  उसकी समस्या बल्लेबाजी है जोकि पूरी तरह से विलियम्सन पर निर्भर है। पिछले मैच में आईपीएल इतिहास में पहली बार पहली ही गेंद पर आउट होकर पवेलियन लौटे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन से भी टीम को फिर बड़ी पारी की उम्मीद होगी। मनीष पांडे (284) और यूसुफ पठान (212) भी उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं।

हैदराबाद की ताकत उसकी गेंदबाजी है। भुवनेश्वर कुमार, सिद्धार्थ कौल, संदीप शर्मा और राश्दि खान की मौजूदगी में उसका गेंदबाजी आक्रमण मौजूदा सत्र में सबसे मजबूत है। यह गेंदबाज ईडन की पिच से हर संभव मदद हासिल करने की कोशिश करेंगे। विलियम्सन की टीम को कोलकाता को रोककर जीत की राह पर लौटने के लिए अपने प्रदर्शन में सुधार करना होगा।

अंकड़ों  में केकेआर का पलड़ा भारी 
अगर आंकड़ों की बात करें तो केकेआर का पलड़ा भारी है। दोनों टीमों ने अब तक 14 मैच खेले हैं, जिसमें कोलकाता ने नौ और हैदराबाद ने पांच जीते हैं। इस सीजन में दोनों टीमें अभी तक दो बार आमने-सामने हुईं और एक-एक बार जीती हैं। हालांकि आखिरी मैच में बाजी कोलकाता ने मारी थी। प्लेऑफ में भी दोनों टीमें दो बार एक-दूसरे से खेली हैं और एक-एक बार जीती हैं। 2016 के एलिमिनेटर में हैदराबाद तो 2017 के एलिमिनेटर में कोलकाता जीता था। 

संभावित टीमेंः

कोलकाता नाइटराइडर्स: क्रिस लिन, सुनील नरेन, रॉबिन उथप्पा, आंद्रे रसेल, दिनेश कार्तिक (कप्तान), नितीश राणा, शुभमन गिल, जावोन सीर्ल्स, प्रसिद्ध कृष्णा, पीयूष चावला, कुलदीप यादव। 

सनराइजर्स हैदराबाद: शिखर धवन, श्रीवत्स गोस्वामी, केन विलियमसन (कप्तान), मनीष पांडे, शाकिब अल हसन, कार्लोस ब्रैथवेट, यूसुफ पठान, राशिद खान,  भुवनेश्वर कुमार, सिद्धार्थ कौल, संदीप शर्मा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान का मानना, करियर खत्म होने पर ही कोहली की सचिन से हो तुलना

क्रिकेट के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर और विराट