Home > राज्य > दिल्ली > दिल्ली में घुसे है लश्कर के 20 आतंकी, भीड़भाड़ वाले इलाकों को बना सकते हैं अपना निशाना

दिल्ली में घुसे है लश्कर के 20 आतंकी, भीड़भाड़ वाले इलाकों को बना सकते हैं अपना निशाना

इंग्लैंड के मैनचेस्टर में सोमवार को हुए फिदायीन हमले के बाद दिल्ली को हाई अलर्ट पर रखा गया है। मगर खुफिया एजेंसियों से मिले इनपुट ने दिल्ली पुलिस व सुरक्षा एजेंसियों की चिंता बढ़ा दी है।
दिल्ली में घुसे है लश्कर के 20 आतंकी, भीड़भाड़ वाले इलाकों को बना सकते हैं अपना निशाना
 ये भी पढ़े: महिलाओं के साथ दरिंदगी की कहानी दहला देगी आपको को, कार से खींचकर खेत में ले गए थे बदमाश

खुफिया एजेंसियों ने इनपुट जारी किया है जिसमें कहा गया है कि भारत में लश्कर-ए-तैयबा के 20-21 आतंकी घुस गए हैं, जो संभवत: दिल्ली, मुंबई, पंजाब और राजस्थान में छिपे हो सकते हैं। 

आतंकियों का मकसद राजधानी में दहशत फैलाने का है। इस इनपुट के बाद दिल्ली पुलिस के अलावा तमाम सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हो गयी है। स्पेशल सेल के पुलिस उपायुक्त पी एस कुशवाहा के मुताबिक इनपुट के बाद आइजीआई एयरपोर्ट, मेट्रो स्टेशनों, रेलवे स्टेशनों, बस अड्डों के अलावा धार्मिक स्थलों, होटलों, सिनेमाघरों और भीड़भाड़ वाले बाजारों व तमाम महत्वपूर्ण जगहों की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है।

दिल्ली पुलिस के अलावा अन्य सुरक्षा एजेंसियां दिल्ली की चौकसी में जुट गयी है। विदेशों से आने वाले फोन कॉल पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। पुलिस आयुक्त ने सभी जिला पुलिस उपायुक्तों को निर्देश जारी कर सुरक्षा में किसी तरह की ढिलाई नहीं बरतने का निर्देश जारी किया है। उन्होंने कानून व्यवस्था बनाए रखने में लोगों से सहयोग की अपील की है। सभी पुलिस उपायुक्तों को अपने जिले में गश्त बढ़ाने की सलाह दी है। 

इसके अलावा संदिग्धों पर नजर रखने के साथ-साथ दिल्ली के होटलों में ठहरने वालों की पूरी जानकारी रखने को कहा गया है। साथ ही स्पेशल सेल को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है।    

Loading...

Check Also

पूर्व PM मनमोहन सिंह पहुंचे इंदौर तो विजयर्गीय ने दागा सवाल- 'आप रिमोट से क्यों चले'

पूर्व PM मनमोहन सिंह पहुंचे इंदौर तो विजयर्गीय ने दागा सवाल- ‘आप रिमोट से क्यों चले’

इंदौर: मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के इंदौर आगमन पर बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com