दिल्ली के रैनबसेरों में होती है बच्चियों से छेड़छाड़, मनचले करते हैं परेशान

rape-child-rape_1458634190नई दिल्ली के नाइट शेल्टर में महिलाएं और बच्चियां बिल्कुल भी सुरक्षित नहीं हैं। क्योंकि आयोग के निर्देश के बाद भी अभी तक संबंधित विभाग ने महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग रहने की व्यवस्था नहीं की है।
दिल्ली महिला आयोग टीम के दौरे की जांच में बच्चियों ने छेड़छाड़ की शिकायत दी है। उसके आधार पर पुलिस में मामला दर्ज करवा दिया गया है। यह कहना है दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का।

मालीवाल शनिवार रात को बंगला साहिब गुरुद्वारा के पास बने नाइट शेल्टर होम में औचक निरीक्षण करने पहुंची थीं। स्वाति के आयोग सदस्य प्रोमिला गुप्ता व सारिका चौधरी भी मौजूद रहीं।

आयोग के मुताबिक, पांच और 10 वर्षीय दो बच्चियों के परिजनों ने छेड़छाड़ की शिकायत दी है। शेल्टर में आने-जाने का कोई रिकॉर्ड न होने के चलते ऐसे लोगों पर अंकुश लगाना मुश्किल है, जोकि छेड़छाड़ करने के मकसद से शेल्टर होम आते हैं।

स्वाति के मुताबिक, एक ई-मेल के आधार पर उन्होंने यह छापा मारा था। पुलिस को कई बार शेल्टर होम के पास सुरक्षा गश्त बढ़ाने की मांग की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसीलिए दिल्ली पुलिस के साथ-साथ दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड को भी नोटिस देकर 26 मई तक जवाब देने का निर्देश दिया है।

 
 
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button