दलित लड़के की संदिग्ध मौतः शव को 24 घंटे से रखकर प्रदर्शन कर रहे परिजन

37_1445578568गोहाना (सोनीपत)। हरियाणा में दलित समुदाय के दो बच्चों की जलाए जाने से मौत का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि इसी समुदाय से जुड़ा एक और मामला सामने आया है। गुरुवार को यहां 15 साल के एक लड़के की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। लड़के पर कबूतर चोरी का आरोप लगाया गया था। परिवार का आरोप है कि पुलिस हिरासत में टॉर्चर किए जाने से लड़के के मौत हुई है। पुलिस ने कहा है कि लड़के की मौत उसके घर हुई है। परिजन पुलिस पर कार्रवाई करने के लिए पिछले 24 घंटे से शव को रखकर प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी मांग है कि जब तक पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई नहीं होती वे संस्कार नहीं करेंगे। दलितों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन के बाद अनुसूचित जाति आयोग के सदस्य ईश्वर सिंह भी घटनास्थल पर थोड़ी देर में दौरा करेंगे।
 
क्या है मामला
सोनीपत के एसपी. अभिषेक गर्ग के मुताबिक, यहां लोहार जाति के कुछ लोगों ने बुधवार को इस लड़के के खिलाफ कबूतर चोरी का केस दर्ज कराया था। इन लोगों ने लड़के के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। गुरुवार को इस लड़के की मौत हो गई। लड़के की फैमिली का आरोप है कि उसकी मौत पुलिस हिरासत में हुई है। लड़के के परिवार का आरोप है कि मौत का शिकार हुए लड़के की गर्दन, पैर और पेट पर चोट के निशान मिले हैं। उनका आरोप है कि पुलिस ने लड़के को छोड़ने के लिए पांच हजार रुपए रिश्वत मांगी थी।
 
इलाके में तनाव
इस घटना के बाद इलाके में तनाव है और वहां भारी पुलिस फोर्स तैनात किया गया है। गर्ग के मुताबिक, “लड़के के गले के पास कुछ निशान पाए गए हैं। पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही इस मामले पर कुछ साफ हो पाएगा।” पुलिस हिरासत में मौत के सवाल पर गर्ग ने कहा, “पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट आने दीजिए, इसके बाद ही कोई एक्शन लिया जाएगा। जहां तक उसके परिवार द्वारा लगाए गए आरोपों का सवाल है, अगर कुछ गलत पाया गया तो हम संबंधित लोगों पर कार्रवाई करेंगे। इसकी पूरी जांच की जाएगी।”

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button