तो ख़त्म हुआ 70 साल पुरानी इस कंपनी का अस्तित्व, कौन है सौदागर

जुबिली न्यूज़ डेस्क
नई दिल्‍ली। तंबाकू, सिगरेट, होटल और एमएफसीजी दिग्गज कंपनी आईटीसी ने मसाला कंपनी सनराइज फूड्स प्राइवेट को खरीद लिया है। आईटीसी के मुताबिक उसने सनराइज फूड्स प्राइवेट लिमिटेड के सारे शेयर 2150 करोड़ में खरीदे हैं।
पूरा सौदा कैश- फ्री, डेट- फ्री आधार पर हुआ है। आईटीसी के अनुसार कंपनी ने 27 जुलाई, 2020 को सनराइज की इक्विटी शेयर पूंजी का 100 प्रतिशत हिस्सा हासिल कर लिया है।
ये भी पढ़े: राफेल आने पर बलिया के इस गाँव में क्यों मन रहा है जश्न
ये भी पढ़े: मुझे अच्छी लगती हैं बिंदास लड़कियां

साथ ही अब सनराइज और उसकी दो सब्सिडियरी, सनराइज शीतग्रह प्राइवेट लिमिटेड और हॉबिट्स इंटरनेशनल फूड्स प्राइवेट लिमिटेड भी आईटीसी की स्वामित्व वाली सब्सिडियरी कंपनी बन गई हैं। पहले 24 मई को आईटीसी ने घोषणा की थी कि वह एसएफपीएल का अधिग्रहण करेगी।
ये भी पढ़े: एयर क्वालिटी लाइफ इंडेक्स में विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानकों पर खरा नहीं उतरता भारत
ये भी पढ़े: राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम पर आतंकी हमले का खतरा
70 साल पुराना ब्रांड है सनराइज
सनराइज पूर्वी भारत में मसालों की सबसे बड़ी कंपनी है। सनराइज 70 साल पुराना ब्रांड है। आईटीसी ने कहा है इसके आशीर्वाद रेंज के मसालों की तेलंगाना और आंध्र में काफी अच्छी मौजूदगी है। कंपनी हाई क्वालिटी मसालों की सबसे बड़ी उत्पादक और निर्यातक कंपनियों से एक है।
फिलहाल सनराइज के कोलकाता, आगरा, जयपुर और बीकानेर में फैक्ट्रियां हैं। सनराइज फूड्स के अधिग्रहण से आईटीसी देश के बड़े हिस्से में अपनी मौजूदगी और बढ़ा पाएगी। वित्त वर्ष 2019-20 के दौरान सनराइज फूड्स का टर्नओवर 591.50 करोड़ रुपए का था।
ये भी पढ़े: कोरोना महामारी के चलते पर्यटन उद्योग के कितना नुकसान हुआ?
ये भी पढ़े: तय हुआ कोविड-19 वैक्सीन का दाम

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button