… तो सच में 25 से फिर लगेगा लॉकडाउन, जानें क्या है सच्चाई

जुबिली स्पेशल डेस्क
कोरोना वायरस देश में कम होने का नाम नहीं ले रहा है। इस वजह से सरकार बार-बार लोगों से कोरोना को लेकर सतर्क रहने के लिए कह रही है। कोरोना ने आर्थिक नुकसान भी बहुत लोगों को पहुंचाया है। हालांकि सरकार ने कई क्षेत्रों में राहत दी है लेकिन कोरोना के मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं।
आलम तो यह है कि रोजाना 90 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं। इस वजह से दोबारा लॉकडाउन लगाने के बाद भी सोशल मीडिया पर चलती रहती है। दरअसल सोशल मीडिया पर एक लेटर वायरल हो गया है। इस लेटर पर गौर करे तो इसमें साफ लिखा है कि 25 सितंबर से एक बार फिर से लॉकडाउन लगाने की तैयारी है।

Loading...

ये भी पढ़े: सलमान खान फिर मुश्किल में 28 सितम्बर को कोर्ट में तलब
ये भी पढ़े: क्या नीतीश कुमार को कड़ी टक्कर दे पायेगा ये खूबसूरत चेहरा
लेटर के वायरल होने से लोगों की कई प्रतिक्रिया भी सामने आ रही है। मामला केंद्र सरकार तक जा पहुंचा है। इसके बाद केंद्र सरकार ने फैक्ट चैक करते हुए सही जानकारी दी है। सरकार ने 25 सितंबर से लॉकडाउन लगने की खबर को झूठ बताया है।

ये भी पढ़े: सुप्रीम कोर्ट ने प्रशांत भूषण से आखिर वसूल ही लिया एक रुपया
ये भी पढ़े: आईपीएस अफसरों के बुरे दिन, मातहतों पर भी संकट
क्या उड़ी फिर अफवाह
दरअसल सोशल मीडिया पर नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (एनडीएमए) के नाम से एक सर्कुलर वायरल हुआ है। इस सर्कुलर पर गौर करे तो इसमें कहा गया है कि देश में एक फिर लॉकडाउन लगने जा रहा है। वायरल हो रहे लेटर में लिखा है, कि देश में कोरोना वायरस के मामलों को फैलने से रोकने और मृत्युदर को कम करने के लिए, योजना आयोग के साथ एनडीएमए भारत सरकार से आग्रह करता है और पीएमओ व गृह मंत्रालय को निर्देश देता है कि 25 सितंबर की आधी रात से 46 दिनों को देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया जाए।
ये भी पढ़े: बड़ी खबर : 25 सांसदों को भी हुआ कोराना
ये भी पढ़े: कहीं आपकी भी जासूसी तो नहीं कर रहा चीन !
देश में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति श्रृंखला को बनाए रखने के लिए एनडीएमए मंत्रालय को सूचना जारी कर रहा है। इसके बाद प्रेस इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) भी हरकत में आया है और उसने इस मामले में कहा कि यह लेटर पूरी तरह से फेक है।
पीआईबी ने ट्वीट कर बताया है कि लिखा कि यह लेटर फेक है। एनडीएमए ने फिर से लॉकडाउन लागू करने के लिए कोई ऑर्डर नहीं जारी किया है। कुल मिलाकर देखा जाये तो सोशल मीडिया पर इससे पहले इसी तरह का मैसेज वायरल किया गया था बाद में सरकार ने इसे गलत बताया था।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...