तो इस जगह से चुनाव लड़ेगे अखिलेश यादव, बताया लोकसभा चुनाव लड़ना बेहद जरुरी..

लोकसभा चुनाव में गठबंधन के साथ चुनाव लड़ बीएसपी और एसपी चुनाव लड़ रही है। ऐसे में खबर आ रही थी कि बीएसपी प्रमुख मायावती और एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादवलोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे लेकिन अखिलेश ने इस बात से इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि वह लोकसभा चुनाव जरूर लड़ेंगे।
अखिलेश किस सीट से चुनाव लड़ेंगे यह उन्होंने खुलकर नहीं बताया है। हालांकि उन्होंने इशारों-इशारों में कहा है कि वह आजमगढ़ लोकसभा सीट चुन सकते हैं। एक सवाल के जवाब में अखिलेश ने कहा कि आजमगढ़ समाजवादियों का घर है और अगर वहां की जनता चाहेगी तो वह वहां से चुनाव लड़ेंगे। आपको बता दें कि आजमगढ़ से अभी यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री के पिता और समाजवादी पार्टी के संरक्षण मुलायम सिंह यादव सांसद हैं। अखिलेश ने कहा मोदी को हटाने का सवाल नहीं है। बीजेपी देश का नुकसान कर रही है। 

‘मेरी सरकार आई तो चिलम निकलवाऊंगा’

मिशन 2019 : ‘अखिलेश का टोपी गिरा, माया का रुमाल’, कुछ यूं बयां किया पार्टियों का हाल

अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी की सरकार आई तो उनका घर खाली करवा लिया गया। अधिकारियों से उनके घर में लगी टोंटी निकलवा ली गईं। अब उन्होंने तय किया है कि उनकी सरकार आएगी तो वह उन्हीं अधिकारियों से चिलम निकलवाऊंगा। 

…तो इसलिए अपर्णा को नहीं दिया टिकट 

अपने छोटे भाई की पत्नी को टिकट न दिए जाने के सवाल पर पूर्व सीएम ने कहा कि गठबंधन में समाजवादी पार्टी के पास कम सीटें आई हैं। ऐसे में वह हर किसी को सीट नहीं दे सकते थे। उन्होंने कहा कि वहीं उनकी पार्टी पर परिवारवाद का भी आरोप लगता है इसलिए उन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को टिकट नहीं दिया। 

पीएम बनाऊंगा, बनूंगा नहीं 
अखिलेश यादव ने कहा कि उन्होंने तय किया है कि वह किसे पीएम बनाएंगे। हालांकि पीएम कौन होगा इस पर उन्होंने कहा कि वह नाम नहीं बताएंगे बस उन्होंने तय कर लिया है। अखिलेश ने कहा कि वह बस इतना कहना चाहेंगे कि देश का पीएम नया होगा और यूपी से होगा। 

आजम के उर्दू गेट गिराने पर बरसे 
अखिलेश यादव पूर्व कैबिनेट मंत्री आजम खान के उर्दू गेट गिराए जाने पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि देश में कई जगह अतिक्रमण है। सीएम आवास में भी अतिक्रमण है। लंबी सूची बनी है अतिक्रमण की। उनकी पार्टी के पूर्व नेता बुक्कल नवाब जो सेवईं खाते थे अब हनुमान के भक्त हो गए हैं। उनके भी कई अतिक्रमण हैं इसलिए वह बीजेपी की शरण में चले गए। 
Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button