विधानसभा में विश्वासमत: विधानसभा में हंगामा, बंद किए गए सभी दरवाजे

एआईडीएमके विधायक थोप्पु एनडी वेंकटचलम ने कहा कि पार्टी के सभी विधायकों के लिए व्हिप जारी कर दिया गया है और हम उसी हिसाब से वोट करेंगे।
 विधानसभा में विश्वासमत: विधानसभा में हंगामा, बंद किए गए सभी दरवाजे

यह भी पढ़े : बीजेपी :अपने करीबियों पर केजरीवाल लुटा रहे हैं सरकारी खज़ाना

चेन्नई। उन्नतीस साल में पहली बार तमिलनाडु विधानसभा में शक्ति परीक्षण शुरू हो चुका है। इसमें शशिकला के बेहद करीबी ई.के. पलानीस्वामी की किस्मत का फैसला होगा। विधानसभा में विश्वासमत से ठीक पहले वहां के सभी दरवाजे बंद कर दिए गए। विश्वासमत से पहले वोटिंग शुरू हो चुकी है।

बहुमत साबित करने की जल्दबाजी क्यों- स्टालिन

डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एम. के. स्टालिन ने कहा कि विधानसभा के अंदर विश्वासमत किसी और दिन होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब राज्यपाल ने 15 दिन का समय दिया है तो फिर बहुमत साबित करने की आखिरकार इतनी जल्दबाजी क्यों है? स्टालिन ने कहा कि यहां पर विधायकों को कैदी की तरह लाया जा रहा है।डीएमके की तरफ से विधानसभा के अंदर ओ. पन्नीरसेल्वम के समर्थन में नारे लगाए गए। उन्होंने कहा कि सही मायने में तभी लोकतांत्रिक प्रक्रिया का पालन होगदा जब विधानसभा के अंदर सीक्रेट बैलट वोटिंग होगी। इसके साथ ही, पलानीस्वामी के समर्थन में और डीएमके के खिलाफ एआईएडीएमके विधायकों ने नारे लगाए।

सीक्रेट बैलेट की मांग पर नारेबाजी

ओ. पन्नीरसेल्वम धड़े के प्रेसिडियम चेयरमैन मधुसुदन ने विधानसभा में चीफ व्हिप के तौर पर एस सेम्मलई को नियुक्त किया। इसके साथ ही पन्नीरसेल्वम खेमे के एआईएडीएमके विधायकों ने नारे लगाकर विधानसभा में गुप्त विश्वासमत के दौरान गुप्त वोटिंग कराए जाने की मांग की। वोटिंग से ठीक पहले विधानसभा स्पीकर ने सीक्रेट बैलेट की मांग को ठुकरा दिया।

विश्वामत हासिल करने का भरोसा

एआईडीएमके विधायक थोप्पु एनडी वेंकटचलम ने कहा कि पार्टी के सभी विधायकों के लिए व्हिप जारी कर दिया गया है और हम उसी हिसाब से वोट करेंगे। तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम के समर्थक एम. पांडियाराजन ने कहा कि हमें ऐसा नहीं लगता है कि हम सिंगल डिजिट में है। हमें विश्वास है कि 135 लोग हमारे पक्ष में मतदान करेंगे। ओ पन्नीरसेल्वम खेमे ने विश्वास प्रस्ताव पर गुप्त मतपत्र के जरिये मतदान कराने की मांग की है। विधानसभा के गणित को देखते हुए सरकार के बहुमत की परीक्षा में पास हो जाने की उम्मीद है। प्रमुख विपक्षी दल द्रमुक ने विश्वास प्रस्ताव के विरोध में वोट डालने का फैसला किया है। उधर, कांग्रेस ने भी तमिलनाडु विधानसभा में विश्वासमत के खिलाफ वोट करने का फैसला किया है।

पलानीस्वामी को शक्ति परीक्षण से पहले झटका

जबकि, कोयबंटूर नॉर्थ के विधायक अरूण कुमार ने शक्ति परीक्षण से ठीक पहले ई. पलानीस्वामी कैंप को झटका देते हुए वोटिंग से अलग रहने का फैसला किया है। तो वहीं, राज्य के पूर्व डीजीपी और अन्नाद्रमुक के विधायक आर नटराज ने विश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग के दौरान सरकार के खिलाफ वोट डालने का एलान किया है। उनके इस तरह पाला बदलने से पन्नीरसेल्वम गुट को एक और विधायक का समर्थन हासिल हो गया है। अब तक वे पलानीस्वामी के खेमे में थे।

शशिकला, पलानीस्वामी को निकाला

पन्नीरसेल्वम खेमे ने जवाबी कार्रवाई करते हुए अन्नाद्रमुक महासचिव शशिकला, मुख्यमंत्री पलानीस्वामी और अन्य नेताओं को पार्टी से निकाल दिया है। पार्टी के पूर्व प्रेजिडियम चेयरमैन ई मधुसूदनन ने शुक्रवार को इन नेताओं को निष्कासित करने का फरमान जारी किया। एक सप्ताह पहले शशिकला ने मधुसूदनन को पार्टी से निकाल दिया था।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button