जेल में बंद डोडा के ग्रुप की वापसी, अबोहर व तरनतारन में ठेके अलॉट

- in पंजाब

जालंधर। बहुचर्चित भीम टांक हत्याकांड के मुख्य आरोपित शिव लाल डोडा की शराब कारोबार में वापसी हो गई है। डोडा दो वर्ष से जेल में बंद है। डोडा के सहयोगी ग्रुप ने कारोबार में फिर से जड़ें जमाना शुरू कर दिया है। अलॉट हुए शराब ठेकों में अबोहर शहर के कुल चार ग्रुप में से दो ग्रुप शिवलाल डोडा की सहयोगी फर्म वंश एंटरप्राइसेस को अलॉट हुए हैं।

वंश इंटरप्राइजेज का मालिक अमित डोडा है, जो इन दिनों शिवलाल डोडा के साथ ही भीम हत्याकांड मामले में जेल में बंद है। वंश एंटरप्राइसेस को अबोहर में अलॉट हुए दो ग्रुप के शराब ठेकों की संख्या 15 से 20 तक हो सकती है। दिसंबर 2015 में हुए भीम हत्याकांड के बाद वर्ष 2016 और 2017 में डोडा ग्रुप ने अबोहर के शराब ठेके नहीं लिए थे।

वहीं, अब तरनतारन में भी डोडा की शराब बिक सकेगी। साथ ही जिला कांग्रेस के उपाध्यक्ष हरजिंदर सिंह ढिल्लों का भी नाम ड्रॉ में आया है। तरनतारन ब्लॉक नंबर-1 का ड्रॉ जिला कांग्रेस के उपाध्यक्ष हरजिंदर सिंह ढिल्लों (होटल सेवन स्टार) के नाम रहा। ब्लॉक नंबर-2 का ड्रॉ शिव लाल डोडा के नाम पर खुला। बहुचर्चित भीम हत्या कांड के मुख्य आरोपित शिव लाल डोडा धारा 302 के मामले में जेल में बंद है। फतेहाबाद और नागोके रोड का ड्रॉ खडूर साहिब के कांग्रेसी विधायक जरमनजीत सिंह कंग के नाम पर रहा।

वहीं, प्रदेश में कुल 7112 ठेके नीलाम हुए। एक अनुमान के अनुसार राज्य में करीब 200 से ज्यादा ठेके घटे हैं, क्योंकि सरकार ने कोटे में 15 फीसद की कटौती की है। हालांकि कमाई पर ज्यादा असर नहीं पड़ा है।

You may also like

नवजोत सिद्धू को कैप्टन ने दिया बड़ा झटका, रेत खनन पर तेलंगाना मॉडल को नकारा

 स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को उनके