जेडीयू ने लिया यू-टर्न, अब जहानाबाद उपचुनाव के लिए उतारेगी अपने उम्मीदवार

- in बिहार, राज्य

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक हफ्ते पहले यह ऐलान कर दिया था कि उनकी पार्टी जेडीयू 11 मार्च को होने वाले अररिया लोकसभा सीट और जहानाबाद तथा बबुआ विधानसभा सीट के उपचुनाव में हिस्सा नहीं लेगी. नीतीश ने ऐलान किया था कि उनकी पार्टी उपचुनाव से पूरी तरीके से दूर रहेगी. मगर 1 हफ्ते के अंदर ही जेडीयू ने यू टर्न ले लिया है और अब जहानाबाद सीट पर उम्मीदवार उतारने को राजी हो गई है.

जेडीयू ने लिया यू-टर्न, अब जहानाबाद उपचुनाव के लिए उतारेगी अपने उम्मीदवारदरअसल 2 दिन पहले बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने जेडीयू से अपील की थी कि वह एक लोकसभा और 2 विधानसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव में हिस्सा लें और किसी एक सीट पर अपना उम्मीदवार उतारे. बीजेपी की मंशा थी कि जेडीयू जहानाबाद सीट पर अपना प्रत्याशी उतारे और उसकी चाहत 24 घंटे के अंदर ही पूरी हो गई.

जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने रविवार को कहा कि बीजेपी नेता सुशील मोदी और मंगल पांडे ने उनसे आग्रह किया कि जेडीयू उपचुनाव में हिस्सा लें और बीजेपी नेताओं के इसी आग्रह को मानते हुए जेडीयू ने जहानाबाद सीट पर अभिराम शर्मा को प्रत्याशी बनाने का फैसला किया है.

जेडीयू के द्वारा पहले उप चुनाव में हिस्सा नहीं लेने का ऐलान और फिर जहानाबाद सीट पर अपना प्रत्याशी उतारने के फैसले पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने तंज कसा है. तेजस्वी ने कहा कि क्योंकि बीजेपी तीन जगहों पर होने वाले उपचुनाव में से किसी पर भी जदयू को सीट नहीं दे रही थी इसी वजह से नीतीश कुमार ने बहाना बनाया कि किसी के निधन होने की वजह से खाली हुई सीट के उपचुनाव में वह नहीं लड़ेंगे.

तेजस्वी ने कहा कि अब क्योंकि बीजेपी ने नीतीश कुमार के ऊपर कृपा कर दी है तो अब उनकी पार्टी जेडीयू जहानाबाद सीट पर चुनाव लड़ने के लिए राजी हो गई है. तेजस्वी ने कहा कि सार्वजनिक जीवन में नीतीश कुमार को इतना भारी पलटी मारते हुए शर्म क्यों नहीं आती है? तेजस्वी ने कहा कि बीजेपी ने जदयू को फुटबॉल बना कर रख दिया है.

You may also like

सुप्रीम कोर्ट का अयोध्या मामले में इसी हफ्ते आ सकता है ये बड़ा फैसला

अयोध्या राम जन्मभूमि मामले से जुड़े एक अहम केस में