जिग्नेश मेवाणी बोले- अंडरवर्ल्ड डॉन से मेरी जान को खतरा, BJP का काम होगा आसान

गुजरात के दलित नेता और वडगाम से विधायक जिग्नेश मेवाणी को लगातार जान से मारने की धमकी मिल रही है. मेवाणी को फोन पर मैसेज और कॉल कर यह धमकियां दी जा रही हैं. फोन और मैसेज कर धमकी देने वाला खुद को अंडरवर्ल्ड डॉन रवि पुजारी बता रहा है.जिग्नेश मेवाणी बोले- अंडरवर्ल्ड डॉन से मेरी जान को खतरा, BJP का काम होगा आसान

जिग्नेश मेवाणी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और कहा कि लगातार तीसरे दिन उन्हें जान से मारने की धमकी मिली है. साथ ही जिग्नेश ने इसे सरकारी साजिश करार दिया है और कहा है कि उनकी मौत से BJP का काम आसान हो जाएगा.

जानकारी के मुताबिक, जिग्नेश को पहला धमकी भरा कॉल 6 जून को आया था. जिग्नेश के मुताबिक, खुद रवि पुजारी ने आस्ट्रेलिया से उसे कॉल कर गोली मारने की बात कही थी. इसके बाद लगातार तीसरे दिन शुक्रवार को भी जिग्नेश के मोबाइल पर धमके भरा मैसेज और कॉल आया.

खुद को रवि पुजारी बता रहे शख्स ने फोन कर कहा, ‘तूने मैसेज देखा. मैं रवि पुजारी बोल रहा हुं ओस्ट्रेलिया से. मैंने तुझे भेजा है, वो पढ़ ले फिर फोन करता हूं.’ जिग्नेश को भेजे धमकी भरे मैसेज में लिखा है, ‘ये जो प्रोवोकेटिव स्पीच है, देना बंद कर, वरना ठोक दुंगा. उमर खालिद भी मेरी हिट लिस्ट में है. ये मेरी तरफ से वॉर्निंग है.माफिया डॉन रवि पुजारी

जिग्नेश ने अपने ट्विटर हैंडल पर वह दोनों नंबर भी शेयर किए हैं, जिन नंबरों से उन्हें धमकी भरे मैसेज और कॉल आए. गौरतलब है कि लगातार पिछले दो दिनों से जिग्नेश को रवि पुजारी के नाम से धमकी भरे मैसेज और कॉल आ रहे थे. इससे पहले 6 जून को आए धमकी भरे मैसेज में कहा गया, ‘लल्लू पंजू समझा है क्या, परिणाम का इंतजार करो.’

जिग्नेश शुक्रवार को आए धमकी भरे कॉल के बाद ट्वीट कर कहा, ‘मुझे मिल रही धमकियां एक सरकारी साजिश क्योंकि यदि कोई रवि पुजारी हमे मार डाले तब तो भाजपा का काम आसान हो जाएगा. अंबेडकरवादी आंदोलन पर हमला करने की भी यह चाल लग रही है.’ जिग्नेश को लगातार मिल रही जान से मारने की धमकियों को देखते हुए दलित एकता मंच ने जिग्नेश मेवाणी के लिए Y कैटेगरी कि सुरक्षा कि मांग की है.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

जम्मू कश्मीर के कुलगाम में 2 आतंकियों को सुरक्षाबलों ने किया ढेर

जम्मू कश्मीर के कुलगाम में एनकाउंटर के दौरान