जापानी दूतावास के शैक्षिक कार्यक्रम में शामिल होंगे डा. जगदीश गांधी एवं सीएमएस की 4 प्रधानाचार्या

- in उत्तरप्रदेश, लखनऊ

‘हिरोशिमा डे’ पर जापान के राजदूत केंजी हीरामात्सू द्वारा विशेष आमन्त्रण

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी के नेतृत्व में विद्यालय का 6 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल आगामी 6 अगस्त को नई दिल्ली में जापानी दूतावास के तत्वावधान में आयोजित शैक्षिक कार्यक्रम में सम्मिलित होगा, साथ ही जापान के राजदूत महामहिम केंजी हीरामात्सू से मुलाकात करेंगे। इस शैक्षिक कार्यक्रम में प्रतिभाग हेतु जापान के राजदूत महामहिम केंजी हीरामात्सू ने सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी, सी.एम.एस. राजाजीपुरम कैम्पस की प्रधानाचार्या निशा पाण्डेय, सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) की प्रधानाचार्या संगीता बनर्जी, सी.एम.एस. स्टेशन रोड कैम्पस की प्रधानाचार्या वीरा हजेला, सी.एम.एस. चौक कैम्पस की प्रधानाचार्या अदिति शर्मा एवं सी.एम.एस. इण्टरनेशनल रिलेशन्स के हेड शिशिर श्रीवास्तव को विशेष रूप से आमान्त्रित किया है। उक्त जानकारी सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने दी है। श्री शर्मा ने बताया कि जापानी दूतावास द्वारा 6 अगस्त को एक विशेष शैक्षिक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है, जिसे जापान के राजदूत केंजी हीरामात्सू सम्बोधित करेंगे। इस अवसर पर भारत के महान गणितज्ञ श्रीनिवासन रामानुजम का स्कूल भाषण सुनाया जायेगा, साथ ही रामानुजम की यादगार फोटो एवं आर्टिफिशियल इन्टेलिजेन्स रोबोट का प्रदर्शन किया जायेगा।

श्री शर्मा ने बताया कि एक अनौपचारिक वार्ता में सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि 6 अगस्त को ‘हिरोशिमा डे’ के नाम से जाना जाता है। द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान इसी दिन जापान पर परमाणु बम गिराया गया था जिसमें हजारों निर्दोष लोगों की जानें गई थी। इस दिन पूरी दुनिया में शोक सभाएँ और प्रार्थनाएँ होती हैं और परमाणु हथियारों के निरस्त्रीकरण का संकल्प लिया जाता है। डा. गाँधी ने कहा कि सी.एम.एस. विश्व एकता व विश्व शान्ति की स्थापना को प्रतिबद्ध है और बड़े जोर-शोर से पूरी दुनिया में एकता व शान्ति का पैगाम पहुँचा रहा है। इसी कड़ी में सी.एम.एस. द्वारा विगत 17 वर्षों से लगातार अन्तर्राष्ट्रीय मुख्य न्यायाधीश सम्मेलन का आयोजन लखनऊ में किया जा रहा है। इन अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलनों में अब तक 126 देशों के 1098 से अधिक मुख्य न्यायाधीश, न्यायाधीश तथा शासनाध्यक्ष प्रतिभाग कर चुके हैं तथावि विश्व की न्यायिक बिरादरी ने सी.एम.एस. की विश्व एकता, विश्व शान्ति व विश्व के ढाई अरब बच्चों के सुरक्षित भविष्य की मुहिम को भारी समर्थन दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग कर रही महिला ने बस में लगाई आग

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ‘पूर्वाचल’ राज्य की मांग को लेकर