जाने रुद्राक्ष क्या है व कौन सा रुद्राक्ष बदल सकता है आपकी किस्मत

रुद्राक्ष:-रुद्राक्ष का सीधा अर्थ रुद्रस्य अक्ष:अर्थात भगवान शिव के नेत्रों के प्रसन्नाश्रु पौराणिक ग्रन्थों के अनुसार रुद्राक्ष के जन्म दाता भगवान शिव हैं। इसका प्रमाण लिंगपुराण, स्कंदपुराण ,शिवपुराण,अग्निपुराण आदि ग्रन्थों में स्पष्ट मिलता है।
विश्व के सभी देशों व धर्मों के लोग इसकी उपयोगिता स्वीकार्य करते हैं ।
जाने रुद्राक्ष क्या है व कौन सा रुद्राक्ष बदल सकता है आपकी किस्मत

रुद्राक्ष के वृक्ष पर श्वेत पुष्प होते हैं व फल की गुठली पर प्राकृतिक रूप में धारियाँ बनी होती हैं इन धारियों से मुखों की गड़ना होती है । जिनकी ज्योतिष में अपनी अलग अलग प्रकृति होतीहै, वैसे ही प्रभाव होता है।रुद्राक्ष को धारण करने से बुद्धि का विकास ,आध्यात्मिक ऊर्जा का विकास , भोग ,मोक्ष की प्राप्ति होती है।

आइये जानते हैं कि रुद्राक्ष के कितने प्रकार व उनको धारण करने से किन -किन चीजों की प्राप्ति होती है…

1एक मुखी:- स्वास्थ्य ,सफलता मान-सम्मान , आत्मविश्वास, प्रबल आध्यात्मिक ऊर्जा प्राप्त होती है।
2दो मुखी:-वैवाहिक सुख ,मानसिक शांति, सौभाग्य वृद्धि प्राप्त होती है।
3 तीन मुखी:-शत्रुओं का शमन रक्त विकार को दूर करना व सात्विक ऊर्जा प्रदान करता है।
4 चार मुखी:-शिक्षा, ज्ञान, बुद्धि-विवेक, कामशक्ति प्रदान करता है।
5 पाँच मुखी:-शारीरिक मानसिक प्रबलता, आध्यात्मिक ऊर्जा ,विजय दिलाता है।
6छै मुखी:- प्रेम संबंध ,आकर्षण देता है।
7सात मुखी:-,शनि के दोष दृष्टि का निवारण ,आत्म शांति देता है।
8आठ मुखी:-सर्प भय से मुक्ति व राहू ग्रह से बचाता है।
9 नव मुखी:-अग्नि भय व केतु ग्रह से बचाता है।
10 दश मुखी:-कार्य क्षेत्र में प्रगति स्थिरता व वृद्धि फिलाता है।
11 ग्यारह मुखी:-आर्थिक लाभ व सवृद्धिशाली जीवन देता है
12 बारह मुखी:-विदेश यात्रा ,शक्ति प्राप्ति, नेतृत्व की क्षमता का विकास प्राप्त होता है।
13 तेरह मुखी:-सर्व जन आकर्षण व मनोकामना पूर्ति होती है।
14 चौदह मुखी:-आध्यात्मिक उन्नति, शक्ति, धन प्राप्ति देता है।
15 पन्द्रह मुखी:- भाग्य , ज्ञान व आत्मबल वृद्धि करता है।
16 गौरशंकर रुद्राक्ष:-सुखी वैवाहिक जीवन मधुर संबंध व आकर्षण देता है।
इन सभी को सुवर्ण धातु में मण्डित कराने व प्राण प्रतिष्ठा करने पर तत्काल प्रभाव देता है।

 

Loading...
loading...
error: Copy is not permitted !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com