जयपुर- उप चुनाव की कमान वसुंधरा ने संभाली, सचिन पायलट ने संभाली कांग्रेस की कमान…

जयपुर। राजस्थान की धौलपुर विधानसभा सीट पर 9 अप्रैल को होने वाला उप चुनाव सत्तारूढ़ दल भाजपा ओर विपक्ष कांग्रेस दोनों के लिए ही प्रतिष्ठा का सवाल बन गया है। वसुंधरा राजे का गृह क्षेत्र होने के कारण जहां राज्य मंत्रिमण्डल के 15 सदस्य एवं एक दर्जन विधायक इस सीट पर भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में जुटे है। भाजपा ने एक-एक गांव में विधायकों और जातिगत आधार पर नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी है। वहीं मंत्रियों को निरंतर गांवों का दौरा कर मतदाताओं से सम्पर्क साधने के लिए कहा गया है।

अभी अभी: सीएम योगी के इस काम से मोदी-शाह की उड़ गई नींद, चारों तरफ मचा हडकंप

 

अभी अभी: सीएम योगी ने युवाओं को दिया बड़ा तोहफा, खुशी से झूमा पूरा यूपी

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे खुद तीन दिन से धौलपुर में रहकर लोगों से मुलाकात कर रही है। विभिन्न जाति ओर धर्मों के लोगों की सभाओं को सीएम ने संबोधित किया। उनके सांसद बेटे दुष्यंत सिंह और उनकी पत्नी निहारिका भी चुनाव अभियान में जुटे हुए है।

 कांग्रेस की ओर से प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने कमान संभाल रखी है। पायलट पिछले एक सप्ताह से यहीं चुनाव अभियान की देख रेख कर रहे है। पायलट ने गुरूवार को धौलपुर शहर में रोड़ शो किया। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित कई दिग्गज कांग्रेसी भी यहां कांग्रेस प्रत्याशी बनवारी लाल शर्मा का चुनाव प्रचार कर चुके है। इधर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के तीन नजदीकी लोगों पर मतदाताओं को लालच देने का आरोप लगाया है। इस संबंध में चुनाव आयोग में दी गई शिकायत में कांग्रेस ने इन तीन लोगों को धौलपुर से बाहर भेजने की मांग की है।

 

अभी अभी: पीएम मोदी के दुश्मन ने सीएम योगी से कहा, सिर झुका के माफी मांग लो वरना जिंदगी बर्बाद कर दूंगा

धौलपुर दौरे पर पहुंचे राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अश्विनी भगत से कांग्रेस नेताओं ने मुलाकात कर आरोप लगाया कि सरकार के परिवहन मंत्री युनूस खान, अल्पसंख्यक विकास बोर्ड के अध्यक्ष अब्दुल सगीर और राजे के विशेषाधिकारी धीरेन्द्र कामठान भाजपा के पक्ष में मतदान करने के लिए लोगों को धमकाने और लालच देने का काम कर रहे थे। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव एवं प्रदेश सहप्रभारी मिर्जा इरशाद बेग के नेतृत्व में भगत से मिला।

 गौरतलब है कि पूर्व में भी कांग्रेस की शिकायत पर ही भाजपा प्रत्याशी उषा रानी के पति एवं पूर्व विधायक बी.एल. कुशवाह को उम्र कैद की सजा होने पर विधानसभा से सदस्यता समाप्त हुई और इसलिए यहां उप चुनाव हो रहा है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button