हालांकि, जीएम भारत को पूरी तरह नहीं छोड़ेगी और न ही उसकी ऐसी कोई योजना है. जीएम बेंगलुरु में अपने टेक सेंटर को ऑपरेट करती रहेगी और तालेगांव के अपने असेंबली प्लांट पर काम जारी रखेगी. तालेगांव दक्षिण-पूर्व मुंबई से 100 किमी दूर है. यह सिर्फ एक्सपोर्ट के लिए कार्य करेगा. वहीं, पश्चिमी गुजरात में हलोल प्लांट को कंपनी अपने जॉइंट वेंचर SAIC मोटर कॉर्प को बेच देगी.