जनरल मोटर्स अब भारत में नहीं बेचेगा अपनी कारें, पढ़े पूरी खबर..

- in कारोबार

नई दिल्ली. जनरल मोटर्स कंपनी (जीएम) इस साल के अंत तक भारत में वाहनों की बिक्री बंद कर देगी और निर्यात पर ध्यान देगी. जनरल मोटर्स दुनिया के सबसे कॉम्पिटिटिव कार मार्केट भारत में एक पर्सेंट से निकलने का फैसला कर सबको चौंका दिया है. कंपनी देश में एक पर्सेंट से भी कम शेयर रखती है.अभी अभी: मोदी सरकार ने दिया जबरदस्त तोहफा, 18 के है तो आज से उठाइए लाभजनरल मोटर्स के इस कदम ने भारत की घरेलू मैन्युफैक्चरिंग की कोशिश को तगड़ा झटका दिया है. जीएम ने ऐलान किया है कि उसकी शेवरले ब्रैंड अब भारत की कार मार्केट का हिस्सा नहीं रह जाएगी. यह सब तब है जब भारतीय कार बाजार के अगले दशक जापान को पीछे छोड़ने की चर्चा शुरू हो चुकी है. जापान दुनिया का तीसरा बड़ा कार बाजार है.

हालांकि, जीएम भारत को पूरी तरह नहीं छोड़ेगी और न ही उसकी ऐसी कोई योजना है. जीएम बेंगलुरु में अपने टेक सेंटर को ऑपरेट करती रहेगी और तालेगांव के अपने असेंबली प्लांट पर काम जारी रखेगी. तालेगांव दक्षिण-पूर्व मुंबई से 100 किमी दूर है. यह सिर्फ एक्सपोर्ट के लिए कार्य करेगा. वहीं, पश्चिमी गुजरात में हलोल प्लांट को कंपनी अपने जॉइंट वेंचर SAIC मोटर कॉर्प को बेच देगी.

 
 

You may also like

5 राज्यों के वित्त मंत्रियों की बैठक में पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर होगा ये बड़ा ऐलान

 पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के बीच आम आदमी को