चौथी सालगिरह की तैयारियों में जुटी मोदी सरकार…

केन्द्र की मोदी सरकार चौथी सालगिरह के मौके पर लोगों को बताएगी कि उसने कितने लोगों को नौकरियां दी। कांग्रेस के नेतृत्व वाली विपक्ष के आरोप को झूठा साबित करने के लिए सरकार ऐसा करने जा रही है। कांग्रेस लगातार भाजपा पर आरोप लगा रही है कि वह अपने वादे के अनुसार नौकरियां पैदा करने में विफल रही है।चौथी सालगिरह की तैयारियों में जुटी मोदी सरकार...
सूत्रों ने बताया कि सभी मंत्रालयों से कहा गया है कि वह डाटा मुहैया करवाएं कि उन्होंने अपने विभाग और उससे जुड़ी संस्थाओं में कितनी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियां पैदा की हैं। सूत्रों का कहना है कि मंत्रालय में एक समिति का गठन किया गया है जो रोजगार को प्राथमिकता पर रखेगा। समिति का गठन चौथी सालगिरह की खुशियां मनाने के लिए किया गया है। 

सूत्र ने बताया कि सरकार ने हर मंत्रालय और विभाग से कहा गया है कि वह अपनी उपलब्धियों का डाटा नियमित अंतराल पर देता रहे। उनसे कहा गया है कि वह पिछले चार सालों में रोजगार के अवसर पैदा करने से संबंधित सभी सूचनाए दें। सूत्रों का कहना है कि सरकार नौकरियों को लेकर सभी विवरण खासतौर से संगठित क्षेत्रों का ब्यौरा देगी। हमें उम्मीद है कि सभी क्षेत्रों का डाटा आने के बाद एक अच्छी रिपोर्ट बनेगी।

कांग्रेस बेरोजगारी के मुद्दे पर लगातार नरेंद्र मोदी सरकार को निशाना बनाती रही है कि वह हर साल 2 करोड़ नौकरियां पैदा करने के अपने वादे को पूरा नहीं कर पाई है। हाल ही में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने दावा किया था कि जहां एक तरफ चीन ने 24 घंटे के दौरान 50,000 युवाओं को नौकरी दी है। वहीं नरेंद्र मोदी 24 घंटे के दौरान केवल 450 लोगों को नौकरी दे पाए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

RBI जल्द जारी करेगा 100 का नया नोट, सामने आई पहली तस्वीर

रिजर्व बैंक एक के बाद एक नए नोट