तीन तलाक के मुद्दे पर चुनावोंं के बाद केन्द्र सरकार उठा सकता है: बड़ा कदम

गाजियाबाद…लखनउ, पांच फरवरी :भाषा: विधानसभा चुनावों की मौजूदा प्रकिया खत्म होने के बाद केन्द्र सरकार संभवत: तीन तलाक प्रतिबंधित करने के संबंध में महत्वपूर्ण कदम उठा सकती है, यह संकेत देते हुए केन्द्रीय विधि मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने सपा, कांग्रेस और बसपा को इस विवादित मुद्दे पर अपना रूख स्पष्ट करने को कहा।
तीन तलाक के मुद्दे पर चुनावोंं के बाद केन्द्र सरकार उठा सकता है: बड़ा कदमइस बात पर जोर देते हुए कि यह मुद्दा किसी धर्म या आस्था से नहीं बल्कि महिलाओं के सम्मान से जुड़ा हुआ है, प्रसाद ने कहा, हम आस्था का सम्मान करते हैं। लेकिन उपासना पति और कुप्रथा साथ साथ नहीं चल सकते।

उन्होंने कहा कि एक साथ तीन बार तलाक बोलने की यह कुप्रथा महिलाओं से उनका सम्मान छीन लेती है। उन्होंने कहा कि केन्द्र इस कुप्रथा को समाप्त करने को प्रतिबद्ध है।

आपको सरकार को दोष देने का कोई हक नहीं, अगर आप नहीं करते मतदान: सुप्रीम कोर्ट

गाजियाबाद में कल शाम एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान केन्द्रीय मंत्री ने कहा था, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद सरकार तीन तलाक प्रतिबंधित करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठा सकती है।

उत्तर प्रदेश और चार अन्य राज्यों में चल रही विधानसभा चुनाव की प्रक्रिया 11 मार्च को परिणाम आने के साथ समाप्त होगी।

महिलाओं की जिंदगी और सम्मान को चोट पहुंचाने वाली इस प्रथा को बंद किए जाने की जरूरत पर जोर देते हुए प्रसाद ने कहा कि उच्चतम न्यायालय की तरफ से इसपर केन्द्र सरकार का रख पूा गया था जिस पर हमारी तरफ से तीन आधार बनाकर जबाव दिया गया है… न्याय, समानता और महिलाओं का सम्मान।

पहली बार भारत में रैंप पर उतरी सलमान की गर्लफ्रेंड

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा, हम एकमात्र पार्टी हैं जो महिलाओं का सम्मान करती है। अन्य दल न तो महिलाओं को अच्छी जगह देते हैं, और न ही उनका सम्मान करते हैं।

लखनउ में इसी मुद्दे को लेकर अपने वार पैने करते हुए प्रसाद ने कहा मैं कहता हूं कि अखिलेश, राहुल और मायावती जी तीन तलाक के मुद्दे पर अपने रख स्पष्ट करें।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button