गाय का मांस खाने की अफवाह फैलने पर भीड़ ने पीटकर मार डाला, बेटे को किया अधमरा

dadri_1443582846गाजियाबाद: यूपी के दादरी इलाके में 50 साल के एक शख्स की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई, जबकि उसके 22 साल के बेटे को अधमरा करके छोड़ दिया गया। गांववालों पर ऐसा करने का आरोप लगा है। पुलिस के मुताबिक, इस बात की अफवाह फैल गई कि मोहम्मद अखलाक, उनके बेटे और परिवार के बाकी लोग न केवल गाय का मांस स्टोर करके रख रहे हैं, बल्कि खा भी रहे हैं। इसके बाद, गांववालों ने अखलाक के घर पर हमला कर दिया।
 
क्या है मामला
 
>घटना बिसारा गांव में सोमवार रात हुई। गौतमबुद्ध नगर के डीएम एनपी सिंह ने बताया कि स्थानीय लोगों ने अफवाह फैला दी कि अखलाक के घर में गाय का मीट रखा हुआ है और वह गोवध में शामिल रहा है।
 
>गांववालों के मुताबिक, 16 सितंबर को बिसारा गांव में एक बछड़ा गायब हो गया था। सोमवार को बछड़े के शरीर के टुकड़े अखलाक के घर के करीब मिलने की अफवाह फैली। अफवाहों के मुताबिक, अखलाक एक पॉलीथिन में बीफ लेकर जा रहा था कि तभी कुत्ते उसके पीछे पड़ गए। इसके बाद, उसने वो पॉलीथिन वहीं फेंक दी।
 
>एसएसपी किरन एस के मुताबिक, शुरुआती जांच में पता चला है कि स्थानीय मंदिर से इस बात का एलान किया गया कि अखलाक का परिवार गाय का मांस खाता है। एसएसपी के मुताबिक, हमें बताया गया है कि कुछ लोग मंदिर में घुसे और माइक्रोफोन से यह एलान किया। अफवाहों के बाद कुछ लोगों ने उसके घर पर हमला किया।
 
>अखलाक की 20 साल की बेटी साजिदा ने बताया, ”गांव के 100 से ज्यादा लोग घर पहुंचे। उन्होंने आरोप लगाया कि हमने घर में गाय का मीट रखा हुआ है। उन्होंने घर के दरवाजे तोड़ डाले और मेरे पिता और भाई को पीटने लगे। वे पिता को बाहर घसीटकर ले गए और उन्हें ईंटों से मारने लगे। हमें बाद में यह पता चला कि मंदिर में यह एलान किया गया कि हम बीफ खाते हैं।”
 
>पिटाई की वजह से मेहनत-मजदूरी करके घर का खर्च चलाने वाले अखलाक की मौत हो गई, जबकि उसके बेटे दानिश को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। डॉक्टरों ने उसकी हालत गंभीर बताई है।
 
>इस मामले में मंदिर के पुजारी को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। एसएसपी के मुताबिक, पुलिस ने दस लोगों के खिलाफ दंगे और मर्डर का मामला दर्ज किया है। इनमें से छह को गिरफ्तार किया जा चुका है। ये सभी लोग गांव के ही हैं।
 
>पुलिस ने बताया कि उन्होंने अखलाक के घर से बरामद मीट के सैंपल फोरेंसिक जांच के लिए लैब में भेजा है। वहीं, अखलाक की बेटी का कहना है कि फ्रिज में मटन रखा था, बीफ नहीं।
 
गिरफ्तारी के विरोध में आगजनी, तोड़फोड़
गिरफ्तारी के विरोध में मंगलवार को गांववालों ने तोड़फोड़ की। पुलिस की एक वैन समेत कई गाड़ियां तोड़ दी गईं। एक मोटरसाइकिल में आग लगा दी गई। हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। हिंसा में एनटीपीसी में काम करने वाला एक 20 साल का युवक घायल हो गया। राहुल नाम के इस युवक का दावा है कि उसके पेट में पुलिस की चलाई गोली लगी। हालांकि, पुलिस ने कहा कि वह अभी इस बात की जांच कर रही है। डीएम ने कहा कि इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात है और हालात काबू में हैं।

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button