गाजीपुर के शशिकांत को मिला देश का सम्मान, खिले गांव वाले के चेहरे

जुबिली स्पेशल डेस्क
लखनऊ। गृह मंत्रालय ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश के जाबांज हीरो को गैलेंट्री अवॉर्ड्स यानी वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया है। इस अवॉर्ड को पाने वालों में जम्मू-कश्मीर पुलिस को शीर्ष स्थान मिला है जबकि दूसरे स्थान पर सीआरपीएफ का दबदबा देखने को मिला है।
हालांकि तीसरे स्थान पर यूपी पुलिस रही है। इस कड़ी में सीआरपीएफ के भांवरकोल के शेरपुर कला गांव के शशिकांत राय को भी पुलिस वीरता पदक से सम्मानित किया गया है।
शशिकांत राय की बहादुरी का अंदाजा ऐसे लगाया जा सकता है कि उन्हें इस समय जम्मू-कश्मीर के अति संवेदनशील व आतंकवाद क्षेत्र पुलवामा में तैनात है। जहां पर शशिकांत राय देश के लिए अपनी जान की बाजी लगाये हुए है। शशिकांत सीआरपीएफ में उप. कमांडेंट है।

ये भी पढ़े: वरदान साबित हो रहा सोने में निवेश, दिवाली तक उछाल की उम्मीदें
ये भी पढ़े: ममता बनर्जी से अब क्यों नाराज हुए गर्वनर ?
सम्मान मिलने के बाद उन्होंने कहा कि अब उनकी जिम्मेदारी और भी बढ़ गई है। उन्होंने बताया कि जम्मू कश्मीर में आतंक को खत्म करने के लिए जान की बाजी भी लगा देंगे। उन्होंने कहा कि सीआरपीएफ में पदस्थ होने के साथ ही नक्सल विरोधी अभियानों में प्रभावी भूमिका निभाई। अवॉर्ड मिलने की सूचना के बाद उनके गांव में खुशी की लहर है। सम्मान की खबर पाकर ग्रामीणों में खुशी की लहर है। उनका कहना है कि पुलिस वीरता पदक प्राप्त कर क्षेत्र व जनपद के साथ पूरे प्रदेश को अत्यन्त गौरवान्वित किया है।

ये भी पढ़े: डॉक्टर कफील की फिर मुश्किलें बढ़ी… पत्नी ने उठाए ये सवाल
ये भी पढ़े: योगी सरकार को आप पर क्यों लगाना पड़ा ताला
शशिकांत राय वर्तमान में जम्मू-कश्मीर में तैनात है। उन्होंने आतंक विरोधी अभ्यिानों में अपने बल का नेतृत्व अदम्य साहस व बहादूरी के साथ किया, जिसमें कई आंतकवादियों को मार गिराने में सफलता प्राप्त की। शशिकांत राय के कुशल व निर्भीक नेतृत्व में बीते साल पुलवामा के ही एक गांव द्रबगाम में सुरक्षाबलों व आंतकियों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में शशिकांत राय ने साहस व वीरता का परिचय देते हुये आगे बढ़कर सुरक्षाबलों का नेतृत्व किया व जैश-ए मोहम्मद के खुंखार आतंकी, जनपद कमांडर शाहिद अहमद बाबा और उसके एक साथी अनायत अहमद जरगर को मार गिराया।

ये भी पढ़े : ‘क्या देश में आज बोलने या लिखने की आजादी बची है?’
ये भी पढ़े : तमाम आपत्तियों के बीच रूस में बनी कोरोना वैक्सीन की पहली खेप
ये भी पढ़े : लखीमपुर में शर्मसार हुई इंसानियत, 13 साल की बच्ची का रेप कर फोड़ी आंख
सरकार ने उनके साहस, वीरता व शौर्य हेतु भारत सरकार ने उन्हें ‘पुलिस वीरता पदक’ के लिए चयनित कर उनकी वीरता व शौर्य को सम्मान दिया है। जिसके लिए उनकी देश में वाहवाही हो रही है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button