गंगा-यमुना के जल स्तर से बढ़ी परेशानी, आज इन 12 राज्यों में जारी हुआ भारी बारिश का अलर्ट

भारी बारिश और बाढ़ से आधा भारत बेहाल है. बिहार, यूपी, गुजरात, ओडिशा और जम्मू-कश्मीर में नदियां उफान पर हैं. वहीं, पहाड़ी इलाकों में भूस्खलन से कई रास्ते बंद हो गए हैं. इस बीच भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अगले 3 दिनों में मध्य एवं उत्तर भारत में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना जताई है. विभाग के मुताबिक, शुक्रवार यानी आज उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, गुजरात और गोवा के दूर-दराज के क्षेत्रों में भारी बारिश हो सकती है.बिहार में गंगा ने बढ़ाई टेंशन, यूपी में कम हो रहा पानी बिहार में गंगा नदी के कई स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बहने और बाढ़ के कारण राज्य में 83.62 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. हालांकि, अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश में बाढ़ की स्थिति में गुरुवार को कुछ सुधार देखने को मिला. प्रदेश के बाढ़ प्रभावित जिलों की संख्या 19 से घटकर 17 रह गई है.

यमुना खतरे के निशान के करीब राष्ट्रीय राजधानी में गुरुवार को बादल छाने से तापमान में गिरावट दर्ज की गई. वहीं शाम तक दिल्ली के कई हिस्सों में बारिश भी हुई. दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर गुरुवार सुबह थोड़ा बढ़ा और नदी अब खतरे के निशान के करीब बह रही है. सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार शाम छह बजे पुराने रेलवे पुल पर नदी का जलस्तर 203.68 मीटर दर्ज किया गया था, जो गुरुवार सुबह बढ़कर 203.77 हो गया.

मध्य प्रदेश में अलर्ट इस बीच, मौसम विभाग ने गुरुवार को चेतावनी दी है कि पूर्वी मध्य प्रदेश के चार जिलों बालाघाट, टीकमगढ़, दमोह एवं सागर में अगले 24 घंटे में अत्यधिक भारी वर्षा हो सकती है. मौसम विभाग के बुलेटिन के अनुसार इन चार जिलों में शुक्रवार सुबह तक कहीं-कहीं गरज के साथ बहुत भारी वर्षा होने की भी संभावना है.

ओडिशा में बाढ़ से कोहराम ओडिशा में बाढ़ ने कोहराम मचा दिया है. गनगुटी नदी उफान पर है. नदी के आसपास के इलाकों में बाढ़ जैसे हालात हैं. इलाके में  लगातार बारिश हो रही है, भद्रक जिले में हालात सबसे खराब हैं. भुवनेश्वर और जाजपुर में भी हालात ठीक नहीं है. NDRF और स्टेट रिलीफ टीमों ने अब तक इन जिलों से 7 हजार लोगों को निकाला है.

#WATCH Odisha: Several areas in Bhadrak district face flooding, as the water-level of Baitarani river rises due to heavy rainfall. (27.08.2020) pic.twitter.com/q4HCOnPlDs— ANI (@ANI) August 27, 2020

लगातार बारिश से बैतरणी नदी में जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है. जाजपुर में लोगों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. जाजपुर में गांवों में बाढ़ से मगरमच्छ भी देखने को मिल रहे हैं, इससे लोग दहशत में हैं. बारिश की वजह से प्रदेश के निचले इलाके डूब गए हैं, सड़क संपर्क टूट गया है.

कोलकाता के कई हिस्सों में भरा पानीराजस्थान में बह गए दो दोस्त राजस्थान में उफनती नदियां खतरा बन रही हैं. धौलपुर में चंबल नदी की तेज धार में दो दोस्त बह गए. मौके पर पहुंचे प्रशासनिक अधिकारियों ने गोताखोरों की मदद से दोनों की चंबल में तलाश कराई लेकिन कई घंटे बाद भी पता नहीं चला. स्थानीय गोताखोर नाव के जरिए नदी में लोहे के जाल डालकर घंटों तलाशते रहे.

पहाड़ों पर आफत पहाड़ों में भी हालात ठीक नहीं हैं. चमोली में बद्रीनाथ नेशनल हाईवे-58 पर पहाड़ भरभराकर गिर पड़े. 12 घंटे से ये हाईवे बंद है. ये लैंडस्लाइड पुरसाड़ी के पास हुआ. गनीमत रही कि कोई गाड़ी या शख्स लैंडस्लाइड की चपेट में नहीं आया. चमोली में लगातार बारिश के बाद जनजीवन बुरी तरह अस्त व्यस्त हो गया है.

#WATCH Uttarakhand: Badrinath National Highway blocked since last 17 hours due to landslide at Chamoli’s Pursadi area following heavy rains in Lambagar & Bhannerpani. National Highways & Infrastructure Development Corporation (NHIDCL) team’s operation underway to open highway. pic.twitter.com/26f8T9gH4s— ANI (@ANI) August 28, 2020

उत्तराखंड के साथ हिमाचल प्रदेश में बारिश और भूस्खलन का दौर जारी है. चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे पर 3 जगह लैंडस्लाइड हुआ, जिससे हाईवे पर यातायात बाधित हो गया. हालांकि इसमें जान-माल का नुकसान नहीं हुआ है. इसके साथ ही टनल के पास भी पहाड़ी से भारी तादाद में पानी आ गया और टनल का रास्ता पूरी तरह लबालब हो गया.

डल झील में लबालब हुआ पानीजम्मू-कश्मीर में अलर्ट जम्मू-कश्मीर नेशनल हाईवे पर रामबन में लैंडस्लाइड हुआ जिसकी वजह से रास्ता बंद हो गया. भारी बारिश के बाद भूस्खलन हुआ. पहाड़ से मलबा गिरकर हाईवे पर बिखर गया. कठुआ में जोरदार बारिश के बाद दरिया और नालों में जबरदस्त उफान आ गया. जिसके बाद 15 लोग उफनती लहरों में फंस गए. पुलिस ने इन लोगों को सुरक्षित निकाला.

J&K: Local administration on high alert as Jammu witnesses rainfall for 3rd consecutive day. Locals complain of high vegetable prices since last few days. A customer, Jai, says, “Vegetables which were selling for Rs 30/kg, are now being sold at Rs 60/kg, we can’t afford it.” pic.twitter.com/Y9Ud0ZAuQq— ANI (@ANI) August 28, 2020

जम्मू में मूसलाधार बारिश में सैकड़ों एकड़ जमीन पर लहलहाती फसल चौपट हो गई. दरिया से सटे इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है.

जम्मू में बांध से छोड़ा गया पानी

जम्मू में तावी नदी का पानी तेजी से बढ़ रहा है. जम्मू-कश्मीर के रियासी में भारी बारिश के बाद अलर्ट जारी किया गया है. नदी-नालों सहित चिनाब दरिया के जलस्तर में उफान के बाद पुलिस ने लोगों को करीब जाने से मना किया. कुछ दिन पहले ही लैंडस्लाइड की वजह से रियासी में तीन लोगों की मौत हुई थी.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button