कौन सी वो खुन्नस थी, जिस वजह से धोनी ने बर्बाद कर दिया इस क्रिकेटर का करियर!

mahendra-singh-dhoni-ipl-300x200महेंद्र सिंह धोनी को एक ऐसे कप्तान के रूप में जाना जाता है जो आउट ऑफ दि बॉक्स यानी लीक से हट कर लिए फैसलों से सबको हैरान कर देते हैं. धोनी ने क्रिकेट में कप्तानी की परिभाषा को बदल कर रख दिया. परंपराओं के खिलाफ फैसले लेने वाले धोनी क्रिकेट के खेल को शतरंज की तरह खेलते हैं. कई बार छोटे मोहरों से बड़े शिकार करने वाले धोनी की किसी चाल के पीछे छुपे ‘शह’ और ‘मात’ के खेल को समझ पाना लगभग नामुमकिन होता है. लेकिन क्रिकेट की बिसात पर धोनी के कुछ फैसलों ने उन्हें ‘किंग’ के बजाए ‘विलेन’ बना दिया. 

धोनी के बारे में यूं तो आम राय है कि वो किसी भी क्रिकेटर की तकदीर बदल सकते हैं. रविंद्र जडेजा, आर. अश्विन, सुरेश रैना, आरपी सिंह, रोहित शर्मा, मोहित शर्मा जैसे क्रिकेटरों की लंबी फेहरिस्त हैं, जिनके करियर को गढ़ने और तमाम विरोधों के बावजूद उनका साथ देने के लिए धोनी की काफी आलोचना भी होती रही है. लेकिन अब लग रहा है कि धोनी किसी का करियर बना सकते है तो बिगाड़ भी सकते हैं. 

धोनी पर यह सवाल इसलिए उठ रहे हैं, क्योंकि उन्होंने कभी टीम इंडिया के स्टार खिलाड़ी रहे एक क्रिकेटर को पिछले दो साल से अतिरिक्त खिलाड़ी बनाकर रखा हैं.

सौरव गांगुली की कप्तानी में यह क्रिकेटर कभी टीम इंडिया की सबसे बड़ी पहचान और ताकत हुआ करता था. भारतीय क्रिकेट में धोनी युग के उदय के बाद से इस क्रिकेटर का करियर अस्त होना शुरू हो गया. आईपीएल-9 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में पुणे टीम के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद यह क्रिकेटर एक बार फिर सुर्खियों में हैं. विदेशी क्रिकेटरों के चोटिल होने और अन्य खिलाड़ियों के लचर प्रदर्शन के बाद भी धोनी ने इस खिलाड़ी को खेलने का मौका नहीं दिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह राज्य का यह क्रिकेटर पिछले दो साल से धोनी की कप्तानी वाली आईपीएल टीम में खेल रहा हैं, लेकिन धोनी ने उसे अब तक केवल एक मैच में खेलने का मौका दिया हैं.

धोनी की वजह से ‘बर्बाद’ होने वाला यह क्रिकेटर इरफान पठान हैं. पठान ने आईपीएल में कुल 99 मैच खेले हैं. इनमें से 98 मैच उन्होंने वर्ष 2015 के पहले खेले थे. पठान को 2015 में चेन्नई सुपर किंग्स में शामिल किया. इसके बाद उन्हें दो सीजन में केवल एक मैच खेलने का मौका मिला है.Sourav-Ganguly

इरफान पठान घरेलू टी-20 टूर्नामेंट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में सबसे सफल गेंदबाज रहे हैं. उन्होंने 10 मैचों में 17 विकेट लिए. इसके बावजूद धोनी ने उन्हें पुणे की तरफ से केवल एक मैच खेलने का मौका दिया.

आईपीएल में इरफान पठान अलग-अलग टीमों के लिए खेल चुके हैं. पहले तीन सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलने वाले इस हरफनमौला क्रिकेटर ने 2012 और 2013 में दिल्ली डेयरडेविल्स तो 2014 में सनराइजर्स की नुमाइंदगी की. 2015 में चेन्नई और 2016 में पुणे की टीम में शामिल होने के बाद से पठान ‘डग आउट’ में बैठकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button