अफगानिस्तान में रेडक्रॉस के छह कर्मियों की हत्या, आईएस पर शक

इस घटना के बाद रेडक्रॉस ने अफगानिस्तान में चलाए जा रहे अपने सभी राहत कार्य रोक दिए हैं|अभी तक इस घटना की जिम्मेदारी किसी संगठन ने नहीं ली है लेकिन, प्रांत के गवर्नर लोतफुल्लाह अज़ीज़ी ने इसके लिए आईएस के लड़ाकों को जिम्मेदार ठहराया है.

अफगानिस्तान में अंतरराष्ट्रीय रेडक्रॉस समिति (आईसीआरसी) के छह कर्मियों की हत्या कर दी गई है. खबरों के अनुसार यह घटना अफगानिस्तान के उत्तर में स्थित जोवजान प्रांत में हुई. प्रांत के पुलिस प्रमुख रहमतुल्लाह तुर्किस्तानी ने बताया, ‘उत्तरी अफगानिस्तान के कुछ क्षेत्रों में बीते रविवार को हिमस्खलन हुआ था. बुधवार को आईसीआरसी के पांच कर्मचारी तीन ड्राइवरों के साथ इन्हीं क्षेत्रों में राहत सामग्री लेकर जा रहे थे.’ रहमतुल्लाह के मुताबिक इसी दौरान रास्ते में कुछ आतंकियों ने इनमें से छह लोगों को गोली मार दी और दो को अगवा कर लिया.’

अभी तक इस घटना की जिम्मेदारी किसी संगठन ने नहीं ली है लेकिन, प्रांत के गवर्नर लोतफुल्लाह अज़ीज़ी ने इसके लिए आईएस के लड़ाकों को जिम्मेदार ठहराया है. उन्होंने मीडिया को बताया कि जिस जगह यह घटना हुई उसके आसपास के इलाकों में आईएस के लड़ाके सक्रिय हैं और वे इससे पहले भी कई लोगों की हत्याएं कर चुके हैं. गवर्नर ने यह भी बताया कि रेडक्रॉस के अगवा किए गए कर्मियों की तलाश में सेना और पुलिस को लगा दिया गया है.

उधर, इस घटना के बाद रेडक्रॉस ने अफगानिस्तान में अपने सभी राहत कार्यों को तत्काल प्रभाव से रोक दिया है. संस्था के अभियान निदेशक डॉमिनिक स्टिलहार्ट ने इस घटना को भयावह करार देते हुए कहा, ‘यह हमला पिछले 20 साल में हमारी संस्था पर हुआ सबसे खतरनाक हमला है. हमने अफगानिस्तान में अपने अभियान पर रोक लगा दी है. पहले हम इस हमले की तह तक जाएंगे, उसके बाद ही अपने अभियान को दोबारा शुरू करेंगे.’

अफगानिस्तान में हुए गृहयुद्ध के समय से ही अंतरराष्ट्रीय रेडक्रॉस समिति लोगों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से यहां बड़ा राहत अभियान चला रही है. यह अभियान दुनिया भर में उसका अब तक का चौथा सबसे बड़ा राहत अभियान है.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button