केजीएमयू में तीन सिविल अस्पताल में 11 स्टाफ संक्रमित, राजधानी में मिले 310 नए मरीज

प्रदेश भर में कोरोना का कहर कायम है। राजधानी में बुधवार को वायरस ने आठ लोगों की जान ले ली। इसमें से चार लखनऊ निवासी थे। ऐसे में मृतकों की संख्या अब 62 हो गई हैं। इसके अलावा राजधानी में 310 नए मरीज कोरोना के मिले हैं।  इनमें कई डॉक्टर और विभिन्न अस्पतालों के कर्मचारी भी शामिल हैं।  यह मरीज इंदिरानगर, गोमती नगर, राजाजीपुरम, रायबरेली रोड, सुलतानपुर रोड, फैजाबाद रोड, कानपुर रोड के हैं। इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी वायरस पहुंच बना रहा है। ऐसे में अब राजधानी में कुल 4727 कोरोना के मरीज हो गए हैं। शहर में पांच सौ से अधिक कंटेनमेंट जोन हैं। 

इनकी हुई मौत 

केजीएमयू के प्रवक्ता डॉ. संदीप तिवारी के मुताबिक, आइसोलशन वार्ड में भर्ती बलरामपुर जनपद के 45 वर्षीय व प्रयागराज के 72 वर्षीय मरीज की कोरोना से मौत हो गई। वहीं, देर शाम संस्थान के प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह ने भी लखनऊ निवासी दो मरीजों की मौत की पुष्टि की। इसमें 61 वर्षीय महिला की कोरोना वार्ड में मृत्यु हो गई। इसमें एक्यूट रेस्पिरेटरी डिसट्रेस सिंड्रोम हो गया। इसके चलते फेफड़ों ने काम करना बंद कर दिया। इसके अलावा गोलागंज निवासी 40 वर्षीय पुरुष की भी मौत हो गई। मरीज को लिवर व किडनी की समस्या थी। वहीं, लोहिया संस्थान के प्रवक्ता डॉ. श्रीकेश के मुताबिक, कोविड अस्पताल में लखनऊ के गोपालगंज निवासी 72 वर्षीय पुरुष की मौत हो गई। मरीज का इलाज वेंटिलेटर पर चल रहा था, मगर उसे बचाया नहीं जा सका। इसके अलावा राजधानी के एक और कोरोना मरीज की मौत हो गई। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, शहर में कोरोना से मृतकों की संख्या 62 पहुंच गई है। वहीं, ठाकुरगंज के एक निजी अस्पताल में 82 वर्षीय देवरिया निवासी मरीज की कोरोना से मौत हो गई। उधर, कानपुर निवासी 62 वर्षीय मरीज को 22 जुलाई को कोरोना वार्ड में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान बुधवार को उसकी मौत हो गई।

तीन बार तीन सौ पार मरीज

राजधानी में जुलाई में मरीजों का रिकॉर्ड टूट गया। कुल मरीजों की संख्या 4,727 हो गई है। इसमें जुलाई में 3,480 मरीज मिले। इस महीने तीन बार तीन सौ मरीज एक दिन में पाए गए।

बाल रोग विशेषज्ञ समेत 11 में कोरोना

सिविल अस्पताल में बुधवार को कई कर्मी कोरोना की चपेट में आ गए। इसमें एक बाल रोग विशेषज्ञ, सात सफाईकर्मी, दो इलेक्ट्रीशियन, एक लिफ्ट मैन है। यह सफाई कर्मी आइसोलेशन वार्ड में ड्यूटी कर रहे थे। इनको वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। वहीं डॉक्टर होम आइसोलेशन में चले गए हैं। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. आशुतोष दुबे के मुताबिक, आइसोलेशन वार्ड को सैनिटाइज कर दिया गया है। नए मरीजों की भर्ती उसमें बंद कर दी गई है।

लिफ्ट मैन में कोरोना, कई में दहशत

लिफ्ट मैन में कोरोना मिलने से सिविल अस्पताल में अफरातफरी मच गई है। इसकी ड्यूटी के दौरान कई डॉक्टर, स्टाफ लिफ्ट में सवार हुए। यह अपने-अपने घर में गए हैं। ऐसे में सैकड़ों में संक्रमण का खतरा है। इसके अलावा मरीज भी लिफ्ट से ऊपरी तलों पर गए।

रेजीडेंट डॉक्टर, दो कर्मचारी संक्रमित

केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर में ड्यूटी कर रहे रेजीडेंट डॉक्टर व मेडिसिन विभाग के दो कर्मचारियों में वायरस की पुष्टि हुई है। रेजीडेंट के संपर्क में रहने वाले 10 अन्य जूनियर डॉक्टरों को क्वारंटाइन किया गया है। संक्रमित रेजीडेंट ने आर्थोपेडिक्स विभाग में 15 दिन पहले जूनियर रेजीडेंट के तौर पर ज्वॉइन किया है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button