किसान रैली: राहुल गांधी ने कहा, जमीन नहीं मां छीन रहे हैं मोदी

rahulgandhiनई दिल्ली( 20 सितंबर): दिल्ली के रामलीला मैदान में कांग्रेस की किसान सम्मान रैली में उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। दिल्ली में रैली के दौरान राहुल ने कहा कि खुशी होती है तो मां की याद आती है। कई बार खाना पकाने में मां के हाथ जल जाते हैं। किसान की तो दो मां होती हैं। एक मां जो देखभाल करती है और दूसरी उसकी जमीन मां होती है।

राहुल गांधी के भाषण की मुख्य बातें

– मुझसे एक किसान ने कहा कि नरेंद्र मोदी हमारी मां छीन रहा है। आप हमारे साथ खड़े हो जाइए। यह किसान के भविष्य की लड़ाई है। जब संसद में हमारे सांसद चिल्लाते तो उन्हें विक्स खानी पड़ती थी लगानी पड़ती थी।

– राहुल ने कहा कि शनिवार को मैं बिहार गया। मैंने वहां किसानों की बात उठाई। मोदी ने कहा, हम ऑर्डिनेंस को लैप्स करेंगे। लेकिन मोदी जो कहते हैं वो करते नहीं हैं। वो चीफ मिनिस्टर्स से कह रहे हैं कि लैंड बिल हम केंद्र में लागू नहीं कर पाए आप स्टेट में लागू करें। आज किसान कमजोर है और मोदी भी यही चाहते हैं। एमएसपी 50 फीसदी बढ़नी चाहिए थी लेकिन नहीं बढ़ी। हर प्रदेश में किसान रो रहा है। मैं पीएम से कहना चाहता हूं कि किसान की मदद कीजिए। अगर आप नहीं करेंगे तो वहां कांग्रेस पार्टी नजर आएगी। बिहार में एक चुटकुला सुनाया था, यहां भी सुनाना चाहता हूं।

– मोदी को देखिए, हर रोज नया कपड़ा पहनते हैं। वो जितना जनता से दूर जाते हैं उनके कपड़े उतना ही चमकते हैं। ब्यूरोक्रेट और बिजनेसमैन साथ नजर आते हैं। इनसे वो किसान की चर्चा करते हैं। किसान और मजदूर से नहीं बात करते।

– हिंदुस्तान में केवल आठ फीसदी प्रोजेक्ट जमीन के कारण रुके हुए हैं। और दूसरी ओर मेक इन इंडिया की बात करते हैं। गुजरात की अलंघ में नाव आती हैं उन्हें वहां काटकर बेचा जाता है। मैं वहां के मजदूरों से मिलता हूं। वहां के लोगों ने बताया कि वहां मजदूरों के लिए कोई कानून नहीं है। वहां मजदूर बीमार होकर मरते हैं। जब मजदूर की लाश को जलाया जाता है तो उनके शरीर में इतने कैमिकल्स होते हैं कि उनकी लाश भी ठीक से नहीं जल पाती। मोदी के मेक इन इंडिया में मजदूरों की कोई जगह नहीं है। मेक का मतलब बनाना होता और टेक का छीनना। मोदी का प्रोग्राम ‘मेक इन इंडिया’ नहीं ‘टेक इन इंडिया’ है।

 
 
 
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button