कर्व्ड स्क्रीन से डुअल लेंस तक, iPhone 8 में हो सकते हैं ये सारे फीचर्स

- in गैजेट

हर दूसरे दिन एप्पल के फ्लैगशिप फोन आईफोन 8 से जुड़ी जानकारियां लीक हो रही हैं. हालांकि, लीक्स के बीच दो बड़े सवाल उठ रहे हैं.
पहला : फोन के डिस्प्ले के नीचे टच आईडी फिंगरप्रिंट स्कैनर कैसे लगाया जाएगा? क्या एप्पल ने यह टेक्नोलॉजी डेवलप कर ली है?

कर्व्ड स्क्रीन से डुअल लेंस तक, iPhone 8 में हो सकते हैं ये सारे फीचर्स
दूसरा : एप्पल की 10वीं एनवर्सरी तक कंपनी इस नई टेक्नोलॉजी से लैस आईफोन तैयार कर लेगी?

ये भी पढ़े: फाइबर डिफ्यूज़र और iDrive कंट्रोलर से लैस होगी BMW 8 सीरीज

चाइनीज साइट इकॉनामिक डेली न्यूज के मुताबिक, एप्पल और इसके सप्लायर्स ने टच आईडी इश्यू सॉल्व कर लिया है. कंपनी जून से फोन प्रोडक्शन को शुरू करने वाली है और सितंबर के शुरुआती हफ्ते में लाखों स्मार्टफोन डिलिवरी के लिए तैयार होंगे.

वहीं दूसरी ओर एप्पल एनलिस्ट मिंग ची कुओ का कहना है कि कंपनी के लिए सितंबर तक फोन की डिलिवरी मुश्किल होगी. डिस्प्ले के नीचे टच आईडी स्कैनर लगाना उतना आसान नहीं होगा, जितना सोचा गया था.

लीक्स को मानें तो आईफोन 8 में ये स्पेसिफिकेशन्स हो सकती हैं :

– होम बटन/टच आईडी फोन के डिस्प्ले के नीचे या पीछे
– नई टच आईडी में फेस/आईरिस स्कैनिंग
– कर्व्ड, एज टू एज ओएलईडी डिस्प्ले (ट्रू टोन टेक्नोलॉजी के साथ), ईऑन एक्स ग्लास
– एलजी की नई 3D सेंसर टेक्नोलॉजी के जरिए फेशियल रेकग्निशन
– वायरलेस चार्जिंग
– डुअल लेंस कैमरा (ऑगमेंटेड रियलटी टेक्नोलॉजी के साथ)
– एप्पल पेंसिल सपोर्ट
– यूएसबी-सी चार्जिंग
– ज्यादा वाटर रेसिस्टेंस
– क्लियर और लाउड ऑडियो के लिए हाईर क्वालिटी ईयरपीस
– एप्पल नेक्स्ट जेनरेशन प्रोसेसर (A10X या A11)
– स्टेनलेस स्टील और ग्लास बॉडी
– 3GB रैम और 64GB वेरिएंट से स्टार्ट
– इंटेल या क्वैलकॉम मॉडम
– 55,000 रुपए (850 डॉलर) और 71,000 रुपए (1,099 डॉलर) की बीच कीमत

कब आएगा आईफोन 8?
हाल ही में कई रिपोर्ट्स में बताया गया था कि मैन्युफैक्चरिंग इश्यू के कारण आईफोन 8 लॉन्चिंग में देरी हो सकती है.

MacRumors की रिपोर्ट के मुताबिक, जरूरी हार्डवेयर अपग्रेड्स के कारण आईफोन 8 की लॉन्चिंग अक्टूबर/नवंबर तक टल सकती है.

कुछ रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि 10वीं एनिवर्सिरी पर कंपनी ‘S’ सीरीज एडिशन लॉन्च कर सकती है. इसके एक या दो महीने बाद आईफोन 8 की लॉन्चिंग की जाएगी.

डिस्प्ले में हो सकते हैं कई बदलाव
टेक फोरम्स और रिपोर्ट्स में कहा गया कि आईफोन के किसी एक नए मॉडल में ओएलईडी डिस्प्ले होगा. (आईफोन 7एस या 7एस प्लस में एलसीडी टेक्नोलॉजी वाला डिस्प्ले ही रहेगा.)

वॉल स्ट्रीट जर्नल और निक्की एशियन रिव्यू की रिपोर्ट के मुताबिक, आईफोन 8 में सैमसंग द्वारा बनाया गया कर्व्ड ओएलईडी पैनल होगा. वहीं, स्लैशलीक्स द्वारा पब्लिश लीक में बताया गया कि एप्पल वॉच की तरह आईफोन 8 के डिस्प्ले में भी ईओन-एक्स ग्लास लगा होगा.

हालांकि, आईफोन के लिए भले ही यह नई टेक्नोलॉजी हो, लेकिन सैमसंग इसे कई साल से इस्तेमाल कर रहा है. ऐसे में माना जा रहा है कि आईफोन 8 की लॉन्चिंग में देरी हो सकती है. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में यह भी बताया गया कि एप्पल आईफोन 8 के ऐसे वर्जन की टेस्टिंग कर रहा है, जिसकी स्क्रीन डिवाइस के पूरे फ्रंट को कवर करेगी.

होम बटन कहां होगा?
आईफोन 8 के होम बटन और ऑप्टिकल फिंगरप्रिंट स्कैनर की लोकेशन और नेचर हॉट टॉपिक बना हुआ है. चर्चा है कि एप्पल इसे फोन के पिछले हिस्से में दे सकता है. वीबो पर लीक डिजाइन इमेज में यह फोन के पिछले हिस्से में दिखाया गया है.

टच आईडी 2.0
मौजूदा एप्पल टच आईडी ऑथिकेंटिकेशन प्रोटोकॉल में फिंगरप्रिंट रीडर को होम बटन में एम्बेड किया जाता है. पिछले कुछ महीनों में कई रिपोर्ट्स में बताया गया कि कंपनी टच आईडी को फोन की ओएलईडी डिस्प्ले में एम्बेड करने पर काम कर रही है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, ओएलईडी पैनल में वर्चुअल होम बटन और ऑप्टिकल फिंगरप्रिंट सेंसर एम्बेड करना काफी मुश्किल साबित हो रहा है.

MacRumors ने एप्पल सप्लायर ताइवान सेमीकंडक्टर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी का के हवाले से बताया कि कंपनी ने इसका सॉल्यूशन ढूंढ लिया है.

फेस आईडी?
‘द कोरिया इकोनॉमिक डेली’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आईफोन 8 के लिए एलजी 3D फेशियल रेकग्निशन टेक्नोलॉजी देगा. यह नई टेक्नोलॉजी बायोमेट्रिक आइडेंटिफिकेशन के लिए इस्तेमाल हो सकती है.

वर्टिकल कैमरा और आगमेंटेड रियलटी
OnLeaks द्वारा लीक लगभग हर तस्वीर में आईफोन 8 में दो वर्टिकल कैमरा दिख रहे हैं. एक तस्वीर में कैमरा के बीच में एलईडी डिस्प्ले मौजूद है. और अगर आईफोन में एलजी 3D सेंसर्स हुए तो यह ऑगमेंटेड रियलटी को भी सपोर्ट कर सकता है.

स्टोरेज
एप्पल नए स्मार्टफोन में 32GB मॉडल को बंद करके 64GB और 256GB मॉडल को पेश कर सकती है. TrendForce की रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी रैम को बढ़ाकर 3GB कर सकती है.

मूड लाइटिंग
बार्कलेज एनालिस्ट के अनुसार, एप्पल के तीनों नए फोन ट्रू टोन टेक्नोलॉजी को सपोर्ट कर सकते हैं. यह लाइटिंग कंडीशन के हिसाब से डिस्प्ले सेटिंग्स एडजस्ट कर देगी. यह टेक्नोलॉजी फिलहाल 9.7 इंच आईपैड प्रो में है.

You may also like

वोडाफोन का बड़ा धमाका: अब इस प्लान में यूजर्स को मिलेगा रोजाना 2.53 रुपए में 1GB डाटा

ग्राहकों को सस्ते डाटा प्लान उपलब्ध कराने में