ओपेन डे समारोह में दिखा बाल सुलभ प्रतिभा का अद्भुत नजारा

- in उत्तरप्रदेश, लखनऊ

सीएमएस अशर्फाबाद कैम्पस में आर्ट-क्राफ्ट प्रदर्शनी एवं ओपेन डे समारोह

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, अशर्फाबाद कैम्पस द्वारा ‘आर्ट-क्राफ्ट प्रदर्शनी एवं ओपेन डे समारोह (स्पेक्ट्रा)’ का भव्य आयोजन विद्यालय के सजे-धजे प्रांगण में बड़े उल्लास व उमंग भरे वातावरण में सम्पन्न हुआ। समारोह में बड़ी संख्या में छात्रों ने प्रतिभाग किया एवं अपनी बाल सुलभ प्रतिभा से अभिभावकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इस अवसर पर नन्हें-मुन्हें छात्रों ने जहाँ एक ओर गीत-संगीत का मनमोहक प्रस्तुतियों से अपने अभिभावकों का दिल जीता तो वहीं दूसरी ओर आर्ट-क्राफ्ट प्रदर्शनी में स्वनिर्मित कलाकृतियों के माध्यम से अपनी सृजनशीलता का शानदार उदाहरण प्रस्तुत कर दर्शकों को दांतो तले उंगली दबाने पर मजबूर कर दिया। इससे पहले, सी.एम.एस. के डायरेक्टर ऑफ स्ट्रेटजी, रोशन गाँधी ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का विधिवत उद्घाटन किया। समारोह की खास बात रही कि अभिभावकों ने विद्यालय परिसर का भ्रमण कर सी.एम.एस. की ब्राडर एण्ड बोल्डर शिक्षा पद्धति का परिचय प्राप्त किया एवं छात्रों को आधुनिक तरीके से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने हेतु सी.एम.एस. के प्रयासों की सराहना की।

‘ओपेन डे समारोह’ का शुभारम्भ स्कूल प्रार्थना एवं सर्व-धर्म व विश्व शांति प्रार्थना से हुआ। इसके उपरान्त छात्रों ने नृत्य, संगीत, योगा, ऐरोबिक्स आदि विभिन्न प्रस्तुतियों के साथ ही मेन्टल मैथ्स, कोआपरेटिव गेम्स, आर्ट एण्ड क्राफ्ट, नीडिल वर्क, ओरिगामी, ब्लाक प्रिन्टिंग, आउटडोर एवं इनडोर गेम्स, सेफ्टी एण्ड सिक्योरिटी, ड्रीमलैण्ड, टेबल मैनर्स, सर्किल टाइम, हेल्थ एण्ड हाइजीन आदि कार्यक्रमों में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। अभिभावकों ने भी तालियां बजाकर छात्रों का खूब उत्साहवर्धन किया। इस शानदार समारोह में छात्रों का उत्साह देखते ही बनता था जिसके माध्यम से इन छोटे-छोटे बच्चों की बहुमुखी प्रतिभा निखर कर सामने आयी।

इस अवसर पर सी.एम.एस. के डायरेक्टर ऑफ स्ट्रेटजी, रोशन गाँधी ने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम छात्रों की रचनात्मक एवं सृजनात्मक क्षमता के विकास में बेहद महत्वपूर्ण है, जहाँ उन्हें अपनी रूचि के अनुसार अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करने का अवसर उपलब्ध होता है। सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी ने बच्चों की प्रतिभा की प्रशंसा करते हुए कहा कि हमें अभिभावकों का जो सहयोग बराबर मिलता है यह उसी का परिणाम है। सी.एम.एस. में शिक्षा के माध्यम से ऐसे प्रयास किये जा रहे है जिसके द्वारा प्रत्येक बालक ईश्वर की शिक्षाओं का पालन करें और इस बात को आत्मसात कर सकें कि मानव जाति की सेवा ही ईश्वर की सच्ची सेवा है। सी.एम.एस. अशर्फाबाद की प्रधानाचार्या तृप्ति द्विवेदी ने अभिभावकों का स्वागत करते हुए कहा कि सी.एम.एस. बालकों को भौतिक, सामाजिक एवं आध्यात्मिक तीनों प्रकार की शिक्षा देकर उन्हें चुस्त एवं संतुलित व्यक्तित्व का धनी, मानव जाति के लिए ईश्वर का उपहार एवं टोटल क्वालिटी पर्सन बनाने के लिए प्रयत्नशील है। हमारा प्रयास है कि प्रत्येक बालक की मनःस्थिति एवं आदत इस प्रकार की बन जाये कि वे पूर्ण मनोयोग एवं समर्पण की भावना से अपने कार्य में निरन्तर संलग्न रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बटुक भैरव देवालय में भादों का मेला 23 सितम्बर को

 अभिषेक के बाद होगा दर्शन का सिलसिला, नए