ऑफबीट नहीं समर की परफेक्ट डेस्टिनेशन है साउथ इंडिया का कोटागिरी हिल स्टेशन

- in पर्यटन

जब भी कोई हिल स्टेशन पर घूमने की प्लानिंग करता है, तो सबसे पहले दिमाग में मनाली, मसूरी, शिमला, नैनीताल जैसी जगह आती हैं. इन सभी हिल स्टेशनो को टॉप लिस्ट में शामिल किया जाता है, लेकिन हम में से ज्यादातर लोग ऐसे होंगे जो इन जगहों पर घूम चुके होंगे. आज हम आपको बताने जा रहे हैं गर्मियों में घूमने के लिए ऐसी ऑफबीट डेस्टिनेशन, जहां आपको न सिर्फ भीड़ कम मिलेगी बल्कि यहां बहुत कुछ खास मिलेगा.  ऑफबीट नहीं समर की परफेक्ट डेस्टिनेशन है साउथ इंडिया का कोटागिरी हिल स्टेशन

एडवेंचर पसंद करने वाले पर्यटकों के लिए भी कोटागिरी में करने को काफी कुछ है. यहां बेहतरीन ट्रेकिंग रूट्स हैं और आप चाहें तो रॉक क्लाइम्बिंग भी कर सकते हैं. कोटागिरी जाएं तो कैथरीन फॉल्स, एल्क फॉल्स, कोटागिरी व्यू पॉइंट और लॉन्गवुड शोला ऐसी जगहों पर जाना न भूलें. कोडानाड व्यू पॉइंट यहां ऊंचाई पर पहुंचकर आपको आसपास मौजूद सभी चीजों का बेहतरीन नजारा दिखेगा. यहां आपको दिखेगा एशिया का सबसे बड़ा मिट्टी से बना बांध, टीपू सुल्तान का किला और पूर्वी और पश्चिमी घाट का मीटिंग पॉइंट. 

कैथरीन फॉल्स

250 फीट ऊंचे इस वॉटरफॉल को पहाड़ी के विपरित तरफ से देखने पर साफ नजारा दिखेगा. इस झरने को नजदीक से देखना चाहते हैं, तो व्यूइंग पैवेलियन के पास जाकर देखें. बारिश के मौसम में यहां जाएं जब झरना अपने पूरे आवेग में होता है. 

रंगास्वामी पीक

अगर आप कोटागिरी के स्थानीय लोगों से पूछें कि यहां का बेहतरीन हाइकिंग ट्रेल कौन सा है तो निश्चित रूप से आपको जवाब मिलेगा रंगास्वामी पीक. अगर आप ट्रेकिंग के आसान रास्तों पर चलना चाहते हैं तो यहां कई और ऑप्शन्स मौजूद हैं. 

कैसे पहुंचे

नजदीकी एयरपोर्ट कोयम्बटूर है. कोयम्बटूर से कोटागिरी की दूरी 47 किलोमीटर जिसे आप टैक्सी के जरिए तय कर सकते हैं. अगर आप ट्रेन से यहां जाना चाहते हैं, तो नजदीकी रेलवे स्टेशन कुन्नूर (21 किलोमीटर), ऊटी (29 किलोमीटर) है. 

घूमने के लिए बेस्ट टाइम 

दिसम्बर से जून 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अगर इस सितंबर जा रहे हैं घुमने, तो आपके लिए बेस्ट है लद्दाख

सभी लोगों को घूमने फिरने का शौक होता