ऐसे लोग करते है अपनी पत्नी से सच्चा प्यार… हर मुश्किल मोड़ पर देते है अपने साथी का साथ

ज्योतिष शास्त्र में ऐसी अनेक बातों का विवरण किया गया है जिनसे किसी भी मनुष्य के चरित्र के बारे में पता किया जा सकता है
ज्योतिष शास्त्र में ऐसी अनेक बातों का विवरण किया गया है जिनसे किसी भी मनुष्य के चरित्र के बारे में पता किया जा सकता है वैसे तो जातक की कुंडली देखकर उसके स्वभाव और चरित्र का अनुमान लगाया जा सकता है यदि जातक के चतुर्थ स्थान पर शनि हो तथा चन्द्र पर गुरु की दृष्ठि हो तब उस जातक को सदाचार्य कहा जाएगा लेकिन प्रतेक मनुष्य की कुंडली का अध्यन करना असम्भव है.

Loading...

 ऐसे लोग करते है अपनी पत्नी से सच्चा प्यार... हर मुश्किल मोड़ पर देते है अपने साथी का साथइसलिए ज्योतिष शास्त्र द्वारा बताये गये मनुष्य के अंग पर उपस्थित चिन्हों तथा शारीरिक रचनाओं द्वारा उसका विवरण किया जा सकता है इस बात से हम भली भांति परिचित है कि पुरुषों के अंग के दाहिने और स्त्रीओं की बायीं और तिल होना अत्यंत शुभ माना जाता है ऐसे जातक और स्त्री आपके पूर्ण जीवन में प्रगति करते रहते है.

यदि किसी पुरुष के दाहिने गाल पर तिल हो तो वह अपने जीवन साथी के एकनिष्ठ होता है तथा वो बड़ी से बड़ी विपति में भी अपनी पत्नी का साथ नही छोड़ता है इसी प्रकार यदि गर्दन पर सामने हो तो और वो तिल दाहिने की और हो तो उस व्यक्ति का प्रेम आत्मिक प्रेम कहा जाएगा.

यदि किसी भी व्यक्ति की दाहिनी आंख की बाहों में तिल हो तो वो विवाहिक जीवन में मधुरता और सकारात्मकता लता है ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार इन चिन्हों वाले व्यक्तियों का जीवन उनके विवाह के बाद ही बदलता है ऐसे जातक और स्त्री अपने पति और पत्नी की सभी इच्छाओं की प्रति करने का प्रयत्न करते है जिस कारण इनका विवाहिक जीवन आनंदमयी होता है इससे आगे की जानकारी हम आपको इस विडियो के माध्यम से देने जा रहे है जिसे जानना आपके लिए बेहद जरूरी है.

Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com