यहाँ है एक ऐसा गांव, जहाँ लडकियां शादी को तरसती है पर नही मिलता कोई मर्द

- in ज़रा-हटके

यह तो सब जानते है! की, हमारी दुनिया अजीबो गरीब किस्से और कहानियों से भरी पड़ी है! हर दिन हमारी मुलाकात एक नये रिवाज ओर कुछ हैरान कर देने वाली जगह से होती है! क्या आपने कभी ऐसे गांव के बारे मे सुना है! जहाँ लडकियां को शादी के लिए भी तरसना पड़ता है! लडकिया को कोई कुवंरा लड़का नही मिलता! जहाँ मर्दो की संख्या बहुत कम हो, जहा लड़किया शादी को तरसती हो।

यहाँ है एक ऐसा गांव, जहाँ लडकियां शादी को तरसती है पर नही मिलता कोई मर्द

वायरल फुटेज- जंगल में लड़की के दोस्त ने लड़की के साथ किया ये काम, देख आपके उड़ जायेंगे होश…

ब्राज़ील का एक ऐसा गांव जहा 18 से 30 साल तक कि लड़कियां से भरा पड़ा है! करीब 600 महिलाओ की आबादी वाली इस गांव मे 300 से ज्यादा लड़कियों को शादी के लिये लड़का नही मिलता! इस गांव मे अविवाहित लड़को को ढूढना जैसे घास मै सुई ढूढ़ने के बराबर है! यह कितना भी चाहे कुँवारे लड़के से शादी करना! पर इन लाचार लड़कियों को मजबूरन शादी शुदा लड़को से शादी करना पड़ती है! वरना पूरी जिन्दगी कुँवारे ही बितानी पड़ती है! औऱ हमेशा से लड़कियों पहला रास्ता चुनती आयी है!

आइये जानते है क्या कारण है:-

गांव को 100 साल हो गए हैं! पर इसने बाहरी दुनिया मे कोई संपर्क नही किया! गांव की ज्यादातर महिलाओ की उम्र 20 से 30 साल है! तथा गांव में रहने वाले सभी मर्द या तो शादीशुदा है! या उनकी रिस्तेदारी है! तथा यहाँ की लड़कियां शादी तो करना चाहती है! पर इस गांव को नही छोडना चाहती है!

प्रधानमंत्री मोदी की वास्तविक सैलरी जानकर हैरान हो जायेंगे आप

लड़कियां चाहती है! की लड़का शादी के बाद उनके गांव मे आकर उन्ही के नियमों का पालन करे! गांव मे खती किसानी से लेकर सभी काम महिलाएं संभालती है! ज्यादातर महिलाओ के पति वह 18 साल से बड़े बेटे गांव से दूर शहर मे रहते है! लड़को के ऊपर निर्भर ना रहने वाले इस मजबूत महिला समुदाय की नींव मारिया सनोरिया डिलिमा ने रखी थी! 1851  में उन्हें घर से निकाल दिया गया था! इसके बाद इसने इस गांव को बसाया उन्ही की वजह से यह गांव आबाद हुआ!

देखिये यह विडियो:-

 
 
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आधी रात बहू के बिस्तर पर जाकर लेट गया ससुर, उसके बाद हुआ कुछ ऐसा कि..

देश में महिलाओं और लड़कियों पर अत्याचार होने